Gujarat Exclusive > महंत नृत्य गोपाल दास की तबीयत बिगड़ी, हाल ही में कोरोना को दी थी मात

महंत नृत्य गोपाल दास की तबीयत बिगड़ी, हाल ही में कोरोना को दी थी मात

0
220

श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास (Nritya Gopal Das) की तबीयत अचानक बिगड़ गई है. इसके बाद उन्हें एंबुलेंस से अयोध्या से लखनऊ लाया रहा है. बताया जा रहा है कि महंत नृत्य गोपाल दास (Nritya Gopal Das) को सांस लेने में परेशानी हो रही है. उन्हें सीने में दर्द की भी शिकायत है. कुछ दिन पहले ही महंत नृत्य गोपाल दास ने कोरोना से जंग जीती है.

यातायात पुलिस ने सफेदाबाद के गोल्डेन ब्लाजम होटल से शहीद पथ पर मेदांता तक ग्रीन कारिडोर बना दिया है. हर चौराहे पर पुलिस मुस्तैद है.

यह भी पढ़ें: ट्रंप प्रशासन ने जिसे हटाया, उस डॉ. मूर्ति को बाइडेन सौंप सकते हैं अहम जिम्मेदारी

मालूम हो कि महंत नृत्य गोपाल दास (Nritya Gopal Das) कुछ समय पहले कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे जिसके बाद उनका इलाज गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में हुआ था. वह 82 वर्ष के हैं. कोरोना पॉजिटिव होते ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नृत्य गोपाल दास (Nritya Gopal Das) को गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में इलाज के लिए भिजवाया था.

अयोध्या आंदोलन के प्रमुख चेहरा

गौरतलब है कि महंत नृत्य गोपाल दास (Nritya Gopal Das) अयोध्या आंदोलन के प्रमुख चेहरे रहे हैं. पिछले वर्ष 9 नवंबर को अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिए गए निर्णय पर उन्होंने खुशी जाहिर की थी और कहा कि अब अयोध्या में राममंदिर बनने का सपना जल्द साकार होगा. पांच अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन भी कर दिया था.

1938 में बरसाना मथुरा के कहोला गांव में जन्म लेने वाले नृत्य गोपाल दास (Nritya Gopal Das) ने महज 12 वर्ष की उम्र में ही संन्यास ले लिया था और मथुरा से बाल अवस्था में ही अयोध्या आ गए थे. नृत्य गोपालदास ने अयोध्या आने के बाद काशी संस्कृत की पढ़ाई करने गए थे. 1953 में वह वापस अयोध्या आए और मणिराम दास छावनी में रुके. उन्होंने राम मनोहर दास से दीक्षा ली थी.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें