Gujarat Exclusive > देश-विदेश > स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने राज्यसभा में दी जानकारी, ओमीक्रॉन का भारत में अभी तक नहीं कोई केस

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने राज्यसभा में दी जानकारी, ओमीक्रॉन का भारत में अभी तक नहीं कोई केस

0
114

नई दिल्‍ली: कोरोना के नए वेरिएंट ओमीक्रॉन का कोई मामला अभी तक भारत में सामने नहीं आया है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. मनसुख मंडाविया राज्यसभा में बोलते हुए यह जानकारी दी. इस वेरिएंट का सबसे पहला केस दक्षिण अफ्रीका में दर्ज किया गया था. उसके बाद नीदरलैंड, बोत्सवाना, ब्रिटेन, ऑस्ट्रेलिया, डेनमार्क, इजरायल, बेल्जियम, चेक गणराज्य, इटली, जर्मनी और हांगकांग जैसे देशों में इसके मामले सामने आ चुके हैं. भारत सरकार की भी नए वेरिएंट की वजह से चिंता बढ़ गई है.

शीतकालीन सत्र के दूसरे दिन राज्यसभा में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मांडविया ने कोरोना के नए वेरिएंट को लेकर अहम बयान दिया. राज्‍यसभा में प्रश्‍न काल के दौरान उन्होंने बताया कि भारत में अब तक कोरोना के ओमीक्रोन वेरिएंट का कोई मामला दर्ज़ नहीं किया गया है.

WHO ने दिया ‘ओमीक्रॉन’ नाम

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने नए वेरिएंट को लेकर सभी देशों को चेतावनी दी है. WHO की तकनीकी सलाहकार समूह ने बीते दिनों समीक्षा बैठक में कहा कि कोविड-19 का नया संस्करण अत्यधिक संक्रामक है. WHO इसे सबसे चिंताजनक प्रकार के रूप में दिखाने की अनुशंसा करता है. समीक्षा बैठक के बाद WHO ने इस वायरस को ओमीक्रॉन नाम दिया है.

इस वेरिएंट का सबसे पहले केस साउथ अफ्रीका में दर्ज किया गया था. वैज्ञानिकों ने चेतावनी दी है कि कोविड का टीका नए संस्करण पर अप्रभावी साबित हो सकता है, संक्रमण की दर बहुत तेज हो सकती है और रोगियों में गंभीर लक्षण देखे जा सकते हैं. वैज्ञानिकों का मानना ​​है कि इस नए वेरिएंट में कम से कम 10 म्यूटेशन हैं. जबकि डेल्टा में सिर्फ दो तरह के म्यूटेशन देखे गए थे.

राज्यसभा के 12 विपक्षी सांसदों के निलंबन पर भड़के राहुल गांधी, कहा-किस बात की माफ़ी?