Gujarat Exclusive > राजनीति > बिहार चुनाव में प्याज के बढ़ते दाम की एंट्री, तेजस्वी ने CM से पूछा क्यों हैं मौन

बिहार चुनाव में प्याज के बढ़ते दाम की एंट्री, तेजस्वी ने CM से पूछा क्यों हैं मौन

0
285

कोरोना संकट काल के बीच देश में प्याज की दाम आसमान को छू रही है. ऐसे में बिहार विधानसभा चुनाव में प्याज के बढ़ते दाम की एंट्री हो गई है.

चुनावी प्रचार के लिए निकलने से पहले प्रतिपक्ष नेता तेजस्वी यादव ने आज बिहार और केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि 50-60 रुपया किलो प्याजा की दाम होने पर विरोध करने वाले लोग आज मौन क्यों है.

उन्होंने कहा कि हाथ में प्याज की माला लेकर इसलिए निकलना पड़ रहा है कि इसे किसे पहनाया जाए.

प्याज की माला लेकर घर से निकले तजस्वी

तेजस्वी यादव आज दस सर्कुलर रोड स्थित आवास से जब चुनाव प्रचार के लिए निकल रहे थे.

इस दौरान वह प्याज की माला लेकर अपने घर से निकले इस मौके पर उन्होने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि आज महंगाई देश की सबसे बड़ा मुद्दा है.

प्याज की दाम थोड़ी से बढ़ने के बाद बीजेपी के लोग प्याज की माला पहनते थे. लेकिन आज वही लोग मौन क्यों हैं क्या उनके मुंह में दही जम गई है.

देश में प्याज के दाम आमसान को पहुंचे

तालाबंदी के बाद सबसे पहले आलू के दाम आसमान में पहुंच गए उसके बाद अब प्यान अपना रंग दिखा रही है. पूरे देश में आज प्याज 100 किलो के पार बिक रही है.

मिल रही जानकारी के अनुसार दिल्ली में प्याज 80 से 100 रुपए प्रति किलो तक बिक रहा है. वहीं, चेन्नई में 105 से 150 रुपए प्रति किलो के हिसाब से प्याज बिक रही है.

प्याज व्यापारियों का मानना है कि अभी एक महीने तक ऐसे ही हालात रहने की उम्मीद जताई जा रही है.

तीन चरणों में होने वाले बिहार विधानसभा चुनाव का प्रचार जोरों पर है. पहले चरण में होने वाले मतदान के लिए आज चुनावी प्रचार का आखरी दिन है.

प्रचार का अंतिम दिन होने के वजह से भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष जेपी नड्डा, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, राष्ट्रीय जनता दल के नेता तेजस्वी यादव समेत कई बड़े नेता आज चुनावी रैली को संबोधित करने वाले हैं.

लेकिन जिस तरीके से आज तेजस्वी यादव प्याज लेकर घर से निकले उसे देखकर ऐसा लगता है कि वह चुनावी सभा में महंगाई के मुद्दे को लेकर सरकार का घेरने वाले हैं.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

दशहरे पर पंजाब में रावण की जगह PM मोदी का पुतला दहन, नड्डा ने राहुल गांधी को ठहराया जिम्मेदार