Gujarat Exclusive > राजनीति > यस बैंक संकट पर फिर बोले पी चिदंबरम, कहा- यह विफलता मोदी सरकार के कुप्रबंधन का परिणाम

यस बैंक संकट पर फिर बोले पी चिदंबरम, कहा- यह विफलता मोदी सरकार के कुप्रबंधन का परिणाम

0
234

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने बीजेपी की अगुवाई वाली केंद्र सरकार पर फिर से निशाना साधते हुए यस बैंक की विफलता के लिए सरकार के कुप्रबंधन को जिम्मेदार ठहराया. साथ ही पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने शनिवार को कहा कि संकटग्रस्त ये बैंक के लिए भारतीय स्टेट बैंक की योजना “बेतुकी” है. इससे पहले भी चिदंबरम ने वित्त मंत्री और सरकार पर सवाल उठाए थे.

चिदंबरम ने कहा, “जिस बैंक का कुल मूल्य शून्य है, उसे 10 रुपये प्रति शेयर के भाव पर खरीदने की भारतीय स्टेट बैंक की योजना विचित्र है. मुझे नहीं लगता है कि एसबीआई स्वेच्छा से यस बैंक को बचाने के अभियान में आया है.” गौरतलब है कि रिजर्व बैंक ने पूंजी संकट से जूझ रहे यस बैंक पर कुछ प्रतिबंध लगाए हैं और बैंक के निदेशक मंडल को भंग करके उसके स्थान पर प्रशासक नियुक्त किया है.

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने यस बैंक के लिए पुनर्गठन योजना का उल्लेख करते हुए शुक्रवार को विपक्षी पार्टी कांग्रेस की आलोचना की है. उन्होंने कहा कि इस संकट की बुनियाद कांग्रेस सरकार के कार्यकाल में पड़ी थी. सीतारमण ने पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम पर निशाना साधते हुए कहा कि संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन सरकार के कार्यकाल में ‘स्व-नियुक्त सक्षम डॉक्टरों’ ने तीन बैंकों का संकट हल करने के बजाय उनकी समस्याएं और बढ़ा दी थीं.

उन्होंने कहा कि उस समय स्व-नियुक्त सक्षम डॉक्टर सत्ता में थे जिन्होंने लगभग डूब चुके यूनाइटेड वेस्टर्न बैंक का 2006 में जबरन आईडीबीआई में विलय कर दिया था. चिदंबरम ने शनिवार को सीतारमण को जवाब देते हुए कहा, “कभी-कभी जब मैं वित्त मंत्री को सुनता हूं तो मुझे लगता है यूपीए अब भी सत्ता में है, मैं अभी भी वित्त मंत्री हूं और वह विपक्ष में हैं.” पूर्व वित्त मंत्री ने बीजेपी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा, “जाहिर सी बात है कि यदि आप कुप्रबंधन के शिकार होते हैं,  तो आप एक संकट से दूसरे संकट में फंसते चले जाएंगे.”

यस बैंक संकट : पाबंदी से एक दिन पहले गुजरात की एक कंपनी ने एकमुश्त निकाले 265 करोड़ रुपये