Gujarat Exclusive > देश-विदेश > पाकिस्तान की बेटी फाखरा को मिली भारत की नागरिकता, 32 साल बाद पूरी हुई ख्वाहिश

पाकिस्तान की बेटी फाखरा को मिली भारत की नागरिकता, 32 साल बाद पूरी हुई ख्वाहिश

0
333

यूं तो भारत और पाकिस्तान (Pakistan) के बीच हमेशा तकरार वाली ही खबरें देखने और सुनने को मिलती हैं लेकिन कभी-कभी कुछ अच्छी खबरें भी सुनने को मिल जाती हैं. ऐसी ही एक खबर बुलंदशहर से आई है. दरअसल पाकिस्तान (Pakistan) के झेलम जिले की रहने वाली एक बेटी को शादी के 32 साल बाद भारतीय नागरिकता मिली है.

शनिवार को एलआइयू अधिकारियों ने यह जानकारी एसएसपी को दी तो एसएसपी ने पाकिस्तान (Pakistan) की फाखरा नौरीन को नागरिकता का सर्टिफिकेट दिया. वर्तमान में पाकिस्तान की बेटी बुलंदशहर के मामन चौकी पर अपनी ससुराल में रह रही हैं.

यह भी पढ़ें: गुजरात में कोरोना से मौत का आंकड़ा 3400 पार, 1 लाख 31 हजार से ज्यादा मामले

निकाह के बाद पिछले 32 साल से फाखरा नौरीन एलटीवी पर बुलंदशहर में रह रहीं थीं. भारतीय नागरिकता मिलने पर फाखरा ने सरकार का शुक्रिया अदा किया है. फाखरा का परिवार भी भारत की नागरीकता मिलने से काफी खुश है. बुलंदशहर के एसएसपी संतोष कुमार सिंह पाकिस्तान (Pakistan) की बेटी फाखरा नौरीन को भारतीय नागरिकता मिलने पर भारतीय नागरिकता प्रमाण पत्र सौंपा है.

1988 में हुआ था निकाह

दरअसल, पाकिस्तान (Pakistan) के झेलम की रहने वाली फाखरा नौरीन का 19 दिसंबर 1988 को बुलंदशहर के रहने वाले नसीम से निकाह हुआ था. निकाह के बाद फाखरा लगातार एलटीवी पर हिंदुस्तान में रह रंही थीं और बराबर भारतीय नागरिकता प्राप्त करने के लिए प्रयासरत थीं. लगातार प्रक्रिया चल रही थी, लेकिन मान्यता नहीं हो रही थी. शुक्रवार का दिन फाखरा के लिए खुशी लेकर आया. लखनऊ से एक सर्टिफिकेट एलआईयू ऑफिस में पहुंचा। जिसमें बताया गया कि फाखरा को भारत की मान्यता दे दी गई है. शनिवार सुबह एसएसपी संतोष कुमार सिंह ने बताया कि फाखरा को उसकी नागरिकता का सर्टिफिकेट दिया गया है. वर्तमान में फाखरा दादी बन गई हैं. उनकी उम्र करीब 55 साल है.

फाखरा की मानें तो 50 साल की उम्र में जाकर उन्हें अब 32 साल बाद भारत की नागरिकता मिली है. भारत की नागरिकता मिलने से पूरा परिवार काफी खुश है और भारत सरकार का घन्यवाद कर रहा है.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें