Gujarat Exclusive > गुजरात > गुजरात किसानों की आवाज उठाने वाले पाल अम्बालिया की पिटाई मुख्यमंत्री के इशारों पर की गई: गुजरात कांग्रेस

गुजरात किसानों की आवाज उठाने वाले पाल अम्बालिया की पिटाई मुख्यमंत्री के इशारों पर की गई: गुजरात कांग्रेस

0
978

कोरोना महामारी के बीच जारी लॉकडाउन के कारण खेत की उपज और फसलों कीमतें में लगातार गिरावट देखने को मिल रही है. इस मामले को लेकर गुजरात कांग्रेस किसान सेल के चेयरमैन पाल अम्बालिया ने किसानों की फसल को उचित दाम की मांग को लेकर राजकोट कलेक्टर आफिस के सामने धरना प्रदर्शन शुरू किया था जिसके बाद पुलिस ने अम्बालिया को गिरफ्तार कर लिया. उनकी गिरफ्तारी बाद गुजरात की राजनीति गर्म हो गई है. कांग्रेस विधायक ललित कगथरा ने आरोप लगाया है कि पाल अम्बालिया को गिरफ्तार करने के बाद पुलिस स्टेशन में मवेशियों की तरह पीटा गया.

आपको बता दें कि गुजरात के किसानों फसलों का उचित मूल्य नहीं मिलने की वजह से कांग्रेस किसान प्रकोष्ठ के नेता पाल अम्बालिया भारी मात्रा में प्याज, आलू और कपास के साथ विरोध प्रदर्शन करने कलक्ट्रेट पहुंचे थे. इसी दौरान अम्बालिया को पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया. हालांकि पाल अम्बालिया की गिरफ्तारी के बाद कांग्रेस का दावा है कि पुलिस ने हवालात में उनकी जमकर पिटाई की. जिसकी वजह से अम्बालिया की सेहत भी बिगड़ गई.

इस संबंध में डीसीपी मनोहर सिंह जडेजा ने कहा, “हम पूरी घटना की जांच करेंगे. कल, ये लोग विरोध करने के लिए प्याज और कपास के साथ कलेक्टर कार्यालय आए थे. इन दिनों सार्वजनिक स्थान पर विरोध नहीं किया जा सकता है. इसलिए पुलिस ने पाल अम्बालिया सहित पांच लोगों को गिरफ्तार किया है.

पाल अम्बालिया की गिरफ्तारी के बाद एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए गुजरात कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अमित चावड़ा ने कहा, “पालभाई ने किसानों का मुद्दा उठाया जिसकी वजह से पुलिस ने मवेशियों की तरह पीटा. गुजरात की भाजपा सरकार किसान विरोधी और अत्याचार करने है. इतना ही नहीं उन्होंने गुजरात सीएम रुपाणी पर बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि पुलिस ने सीएम के इशारे पर मवेशियों की तरह पिटाई की है.

तालाबंदी के बीच गुजरात में एक बार फिर टिड्डियों की एंट्री, किसान हुए परेशान