Gujarat Exclusive > हमारी जरूरतें > पटना एम्स में शुरू हुआ कोरोना वैक्सीन का मानव परीक्षण, 18 लोगों पर प्रयोग

पटना एम्स में शुरू हुआ कोरोना वैक्सीन का मानव परीक्षण, 18 लोगों पर प्रयोग

0
743

ढ़ी हुई उम्मीदों के साथ देश की पहली कोरोना वैक्सीन का मानव परीक्षण आज से शुरू हो गया. इस प्रक्रिया के लिए चुने गए 18 लोगों को मेडिकल जांच के बाद कोरोना वैक्सीन का पहला डोज दिया जाएगा, जिसके बाद 2-3 घंटे डॉक्टरों की टीम उन पर नजर रखेगी. पहले डोज के सफल परीक्षण के बाद लोगों को दूसरा और तीसरा डोज दिया जाएगा. यह वैक्‍सीन आइसीएमआर और भारत बायोटेक द्वारा निर्मित है. इसके मानव परीक्षण के लिए पटना एम्स में पांच विशेषज्ञों की टीम गठित की गई है.

कोरोना वैक्‍सीन के परीक्षण के लिए 50 लोगों ने एम्‍स प्रशासन से संपर्क किया था, जिनमें से 10 लोगों को चुना गया है. चुने गए लोग 18 से 55 साल की उम्र के बीच के हैं. परीक्षण के पहले उनकी मेडिकल जांच की जाएगी. परीक्षण आइसीएमआर की गाइडलाइन के अनुसार किया जाएगा.

इस बात की जानकारी देते हुए पटना एम्स के अध्यक्ष डॉ. सी.एम सिंह ने बताया कि वैक्सीन के ह्यूमन ट्रायल के लिए जिन 18 लोगों को चुना गया है, उन्हें आज अस्पताल बुलाया गया है. सभी की शारीरिक जांच की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है. यह प्रक्रिया होने के बाद उन्हें वैक्सीन दिया जाएगा और उसके बाद उनकी जांच की जाएगी.

डॉ सिंह ने बताया कि जांच के लिए अस्पताल प्रबंधन ने 18-55 साल के 18 लोगों का चयन किया है, जिन्हें वैक्सीन का पहला डोज दिया जाएगा. इससे पहले इनके मेडिकल चेकअप के लिए यूरीन और ब्लड सैम्पल लिए जाएंगे. आईसीएमआर की गाइडलाइन के अनुसार, जिनकी रिपोर्ट सही रहेगी, उन्हें वैक्सीन का पहला डोज दिया जाएगा. पहला डोज देने के बाद डॉक्टरों की टीम 2-3 घंटे सभी पर नजर रखेगी, फिर उन्हें घर भेज देगी. फर्स्ट, सेकंड और थर्ड तीन डोज में इंजेक्शन का ट्रायल होगा.

भारत में 75000 करोड़ रुपये का निवेश करेगा Google, सुंदर पिचाई ने किया ऐलान