Gujarat Exclusive > गुजरात > गुजरात में पेट्रोल पम्प कर्मियों का फैसला, खाली हाथ लौटेंगे मास्क नहीं पहनने वाले

गुजरात में पेट्रोल पम्प कर्मियों का फैसला, खाली हाथ लौटेंगे मास्क नहीं पहनने वाले

0
880

कोरोना वायरस की महामारी से बचने और लोगों को बचाने के उद्देश्य से पेट्रोल पम्प कर्मियों ने निर्णय किया है कि वे बिना मास्क के आने वाले वाहन चालकों के वाहन में पेट्रोल या डीजल नहीं भरेंगे. लोग बिना मास्क के ही पेट्रोल पम्पों पर देखने को मिल रहें है, इससे यह निर्णय किया गया.

देश में कोरोना वायरस के कारण 21 दिनों तक लॉकडाउन किया गया है. इसके बाद कोरोना वायरस के बारे में लोगों में जागृति का अभाव दिख रहा हैं. वाहन चालक पेट्रोल भराने के लिए जाते समय भी मास्क नहीं पहनते. इसलिए टू व्हीलर फोर व्हीलर का चालक और उसके साथ बैठने वालों के लिए मास्क अनिवार्य कर दिया गया हैं. पेट्रोल पम्प के प्रवेश द्वार पर ही इस आशय का सूचना पर लगा दिया हैं.

इस बारे में रविवार पहला दिवस था. इसलिए वाहन चालकों को इसके लिए समझाया जा रहा था. वहीं आज इस पर सख्ती से अमल कर दिया गया हैं. मास्क बिना पेट्रोल-डीजल के लिए आनेवाले वाहन चालकों को प्रवेश द्वार से ही लौटाया जा रहा हैं.

गुजरात में कोरोना का कहर

राज्य में छह नए मामले सामने आने के बाद सोमवार को गुजरात में कोरोना वायरस के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 69 हो गई है. नए मामलों के साथ अब अहमदाबाद में 23 पॉजिटिव मामले हो गए हैं. इसके अलावा वडोदरा, राजकोट और गांधीनगर में नौ-नौ मामले हैं. सूरत और भावनगर में भी कोरोनो वायरस के आठ-आठ मामले सामने आए हैं, जबकि गिर-सोमनाथ में दो मामले सामने आए हैं. पोरबंदर, कच्छ और मेहसाणा से एक-एक मामला सामने आया है.

अहमदाबाद में कोरोना को महिला ने दिया मात, घर वापसी पर जबरदस्त स्वागत