Gujarat Exclusive > हमारी जरूरतें > फाइजर का दावा- हमारी कोरोना वैक्सीन 12-15 वर्ष के बच्चों पर 100% प्रभावी

फाइजर का दावा- हमारी कोरोना वैक्सीन 12-15 वर्ष के बच्चों पर 100% प्रभावी

0
442

अमेरिकी दवा कंपनी फाइजर ने कोरोना वैक्सीन को लेकर बड़ा दावा किया है.  फाइजर और बायोनटेक (Pfizer-BioNTech) का कहना है कि कोविड वैक्सीन 12 से 15 वर्ष के बच्चों पर 100% प्रभावी है. फाइजर का कहना है कि कोविड 19 वैक्सीन छोटे बच्चों की सुरक्षा करता है. Pfizer-BioNTech

वैक्सीन बनाने वाली अमेरिकी कंपनी फाइजर इंक और बायोनटेक एसई ने हाल ही में 12 साल से कम उम्र के बच्चों पर वैक्सीन का ट्रायल शुरू किया था.  Pfizer-BioNTech

यह भी पढ़ें: ममता बनर्जी ने लिखी विपक्षी नेताओं को चिट्ठी, कहा- भाजपा के खिलाफ हों एकजुट

अब कंपनी ने दावा किया है कि 12 से 15 साल तक के बच्चों के लिए कोरोना वैक्सीन 100 प्रतिशत असरदार है. 12-15 साल के 2,260 वॉलंटिअर्स पर किए गए टेस्ट के डेटा में पाया गया कि पूरे वैक्सिनेशन के बाद कोरोना इन्फेक्शन का कोई केस नहीं पाया गया. Pfizer-BioNTech

यह स्टडी अभी पब्लिश नहीं हुई है और ज्यादा बड़ी संख्या में वॉलंटिअर्स पर टेस्ट भी नहीं किया गया था लेकिन उम्मीद जगने का एक बड़ा काम बच्चों में मिलीं ऐंटीबॉडीज हैं. वायरस से लड़ने वाली ऐंटीबॉडी बच्चों में बड़ों की तुलना में ज्यादा मिलीं. हालांकि, उन पर साइड इफेक्ट भी बड़ों की तरह दिखे जिनमें दर्द, बुखार, थकान शामिल हैं. Pfizer-BioNTech

बता दें कि अभी तक ज्यादातर वैक्सीन 16 साल या उससे ज्यादा उम्र के लोगों को दी जा रही थीं. फाइजर का यह ऐलान बच्चों में वैक्सीन के विस्तारित इस्तेमाल के लिए दरवाजा खोल सकता है. मालूम हो कि अमेरिका में 16 वर्ष और उससे अधिक उम्र के युवाओं को फाइजर की वैक्सीन दी जा रही है. Pfizer-BioNTech

मॉडर्ना भी कर रहा ट्रायल

मॉडर्ना इंक ने भी पिछले हफ्ते ऐसी एक ट्रायल लॉन्च की थी। 6 महीने तक के बच्चे को भी टीका दिया गया था. वर्तमान में केवल Pfizer / BioNTech वैक्सीन का उपयोग संयुक्त राज्य अमेरिका में 16- और 17 साल के बच्चों में किया जा रहा है. मॉडर्ना का शॉट 18 साल और उससे अधिक उम्र के लोगों को दिया जा रहा है.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें