Gujarat Exclusive > हमारी जरूरतें > ब्रिटेन ने जीती कोरोना वैक्सीन की रेस, फाइजर को अगले सप्ताह से इस्तेमाल की मिली मंजूरी

ब्रिटेन ने जीती कोरोना वैक्सीन की रेस, फाइजर को अगले सप्ताह से इस्तेमाल की मिली मंजूरी

0
168

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के बीच एक राहत पहुंचाने वाली खबर सामने आई है. फाइजर (Pfizer Corona Vaccine) और बायोएनटेक की कोरोना वायरस वैक्सीन को ब्रिटेन ने आम लोगों के इस्तेमाल के लिए मंजूरी दे दी है. ऐसा करने वाला ब्रिटेन दुनिया का पहला देश बन गया है. अब ब्रिटेने में अगले सप्ताह से कोरोना वैक्सीन का टीकाकरण होगा.

जानकारी के मुताबिक ब्रिटेन में राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा (एनएचएस) कर्मियों को 7 दिसंबर से टीका (Pfizer Corona Vaccine) लगाने की शुरुआत की जा सकती है. ब्रिटेन ने पहले ही वैक्सीन (Pfizer Corona Vaccine) की 4 करोड़ खुराक का आदेश दे रखा है जो कि 2 करोड़ लोगों के टीकाकरण के लिए पर्याप्त हैं. बता दें कि प्रत्येक व्यक्ति को वैक्सीन (Pfizer Corona Vaccine) की दो खुराक दी जाएगी. इसके अलावा वैक्सीन की एक करोड़ खुराक जल्द ही उपलब्ध करवाई जाएगी.

यह भी पढ़ें: गुजराती लड़कों ने भारत की कराई वापसी, ऑस्ट्रेलिया के सामने रखा 303 रनों का लक्ष्य

जल्द शुरू होगा टीकाकरण

ब्रिटेन के वैक्सीन मंत्री नादिम जहावी के हवाले से एक मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है कि अगर सब कुछ योजना के अनुसार होता है और फाइजर (Pfizer Corona Vaccine) और बायोएनटेक द्वारा विकसित वैक्सीन के वितरण और टीकाकरण अभियान को जल्द ही शुरू कर दिया जाएगा.

95 फीसदी तक सुरक्षा का दावा

ब्रिटिश नियामक एमएचआरए का कहना है कि कोरोना वायरस के खिलाफ 95 फीसदी तक सुरक्षा प्रदान करने वाली वैक्सीन (Pfizer Corona Vaccine) लोगों के बीच उपलब्ध कराए जाने के लिए तैयार है. उच्च प्राथमिकता वाले समूहों में लोगों के टीकाकरण की प्रक्रिया कुछ ही दिनों में शुरू की जाएगी.

ब्रिटेन में कोरोना की स्थिति

बता दें कि ब्रिटेन में अब तक 59 हजार से ज्यादा लोगों की कोरोना वायरस के कारण मौत हो चुकी है. ऐसे में ब्रिटेन लोगों को जल्द ही कोरोना वैक्सीन (Pfizer Corona Vaccine) मुहैया करवाई जाएगी, जिसके बाद इस महामारी से छुटकारा मिलने की उम्मीद की जा रही है. दुनिया की बात करें तो दुनिया में कोरोना वायरस (कोविड-19) के कारण 6.4 करोड़ से ज्यादा मरीज संक्रमित हो चुके हैं. वहीं ब्रिटेन में अब तक कोरोना वायरस के कारण 16 लाख से ज्यादा लोग बीमार हो चुके हैं.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें