Gujarat Exclusive > देश-विदेश > नर्स ने केवल अंडरगारमेंट्स पहनकर किया कोरोना के मरीजों का इलाज, अब नौकरी पर खतरा

नर्स ने केवल अंडरगारमेंट्स पहनकर किया कोरोना के मरीजों का इलाज, अब नौकरी पर खतरा

0
5026

पूरी दुनिया कोरोना महामारी से जूझ रही है. ऐसे में डॉक्टरों और नर्सों भगवान की भूनिका निभा रहे हैं. कोरोना काल में कोरोना संक्रमित मरीजों का इलाज कर रहे डॉक्टरों और नर्सों का आम लोगों के बीच काफी सम्मान बढ़ा है. इसी बीच रूस के एक अस्पताल से ड्यूटी कर रही एक नर्स की हैरान कर देने वाली तस्वीर सामने आई है. तस्वीर में दिख रही नर्स ने पारदर्शी पीपीई किट पहन हुई, जिसके नीचे उसने अंडरगारमेंट्स के अलावा कुछ भी नहीं पहन रखा है.

पारदर्शी पीपीई किट पहनकर पुरूष वॉर्ड में मरीजों का इलाज करने वाली इस रूसी नर्स की तस्वीरें सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही है. हालांकि सोशल मीडिया पर तस्वीरें वायरल होने के बाद रूस के स्थानीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने नर्स के खिलाफ यूनीफॉर्म नियमों को तोड़ने के आरोप में अनुशासनात्मक कार्रवाई शुरू कर दी है.

यूनीफॉर्म नियम तोड़ने के आरोप में फंसी नर्स का कहना है कि उसे इस बारे में बिल्कुल भी अंदाजा नहीं था कि पीपीई किट इतनी पारदर्शी है. इसके अलावा उसने कहा कि उसने गरमी से बचने के लिए अंदर ज्यादा कपड़े नहीं पहने थे. फिलहाल, नर्स के खिलाफ कार्रवाई हो सकती है और उसे अपनी नौकरी से भी हाथ धोना पड़ सकता है.

हालांकि, इस मामले में नर्स को कई डॉक्टरों, नर्सों और नेताओं का जबरदस्त सपोर्ट मिल रहा है. नर्स के समर्थन में सभी लोगों का आरोप है कि अस्पताल ने डॉक्टरों और नर्सों को अच्छी पीपीई किट नहीं दी है. आरोपी नर्स के नाम को सार्वजनिक नहीं किया गया है, वह 20 साल की बताई जा रही हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक ये नर्स रूस की राजधानी मास्को से करीब 100 मील दूर स्थित टूला के रीजनल क्लिनिकल हॉस्पिटल में काम करती है. जानकारी के मुताबिक अस्पताल में इलाज करा रहे एक मरीज ने ही नर्स की फोटो ली और उसे सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दिया था. मामले में अस्पताल प्रशासन ने पहले कहा था कि नर्स ने पीपीई किट के नीचे अंडरगारमेंट्स पहना था, जिसके बाद उन्होंने दावा किया कि नर्स ने अंदर स्विम सूट पहना था.

उत्तर प्रदेश: रामपुर में शिवसेना नेता की गोली मारकर हत्या, परिजनों का अस्तपातल में हंगामा