Gujarat Exclusive > राजनीति > कृषि बिल का विरोध करने वालों पर बरसे पीएम मोदी, गुमराह करने का लगाया आरोप

कृषि बिल का विरोध करने वालों पर बरसे पीएम मोदी, गुमराह करने का लगाया आरोप

0
526
  • जनसंघ के अध्यक्ष पंडित दीनदयाल उपाध्याय की 104 वीं जयंती
  • पीएम मोदी ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिय भाजपा कार्यकर्ताओं को किया संबोधित
  • कृषि बिल का विरोध करने वालों पर बरसे पीएम मोदी
  • विपक्ष पर किसानों को गुमराह करने का पीएम मोदी ने लगाया आरोप

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज भारतीय जनसंघ के अध्यक्ष पंडित दीनदयाल उपाध्याय की 104 वीं जयंती पर भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिय संबोधित किया.

इस दौरान उन्होंने कोरोना संकट में अपनी जान गंवाने वाले भाजपा कार्यकर्ताओ को नमन किया.

इस दौरान उन्होंने कृषि बिल का विरोध करने वाले विपक्ष पर जमकर हमला बोला. पीएम मोदी ने कहा कि यह लोग हमेशा किसानों से झूठ बोला है.

अपने राजनीतिक स्वार्थ के लिए किसानों के कंधे बंदूक रखकर चलाया जा रहा है.

पीएम मोदी ने पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंति पर कार्यकर्ताओं को किया संबोधित

वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिय भाजपा कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि एक राष्ट्र, समाज के रूप में भारत को बेहतर बनाने के लिए दीन दयाल जी का योगदान पीढ़ियों को प्रेरित करने वाला है.

दीनदयाल जी ही थे, जिन्होंने भारत की राष्ट्रनीति,अर्थनीति, समाजनीति, राजनीति सभी पहलुओं पर भारत के अथाह सामर्थ्य के हिसाब से तय करने की बात मुखरता से कही थी.

 

विपक्ष पर जमकर बरसे पीएम मोदी

दीन दयाल उपाध्याय की जयंती के मौके पर बोलते हुए प्रधानमंत्री ने कहा आजादी के अनेक दशकों तक किसान और श्रमिक के नाम पर खूब नारे लगे.

बड़े-बड़े घोषणा पत्र लिखे गए, लेकिन समय की कसौटी ने​ सिद्ध कर दिया है कि वो सारी बातें कितनी खोखली थीं, सिर्फ नारें थे. देश अब इन बातों को भली भांति जानता है.

यह भी पढ़ें: कृषि बिल के खिलाफ किसानों का चक्का जाम, पंजाब-हरियाणा और बिहार में दिखा असर

उन्होंने विपक्ष पर हमला बोलते हुए कहा कि किसानों को ऐसे कानूनों में उलझाकर रखा गया. जिसके कारण वो अपनी ही उपज को, अपने मन मुताबिक बेच भी नहीं सकता था.

नतीजा ये हुआ कि उपज बढ़ने के बावजूद किसानों की आमदनी उतनी नहीं बढ़ी. हां, उन पर कर्ज जरूर बढ़ता गया.

कृषि बिल के खिलाफ पूरे देश में किसानों ने आज भारत बंद का ऐलान किया है. पंजाब-हरियाणा और बिहार के साथ ही साथ कई अन्य राज्यों में किसान सड़कों पर बैठकर चक्का जाम कर रहे हैं.

किसानों के भारत बंद के ऐलान को कांग्रेस, राजद, समाजवादी पार्टी, अकाली दल, आप, टीएमसी समेत कई विपक्षी दल ने समर्थन दिया है.

किसान संगठनों ने केंद्र की मोदी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि इस बिल किसानों को आजादी नहीं मिलेगी बल्कि इससे कॉरपोरेट से जुड़े लोगों को फायदा पहुंचेगा.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

भाजपा का कृषि बिल ईस्ट इंडिया कम्पनी राज की याद दिलाता है: प्रियंका गांधी