Gujarat Exclusive > देश-विदेश > बोडो समझौता के बाद पहली बार असम पहुंचे PM मोदी, सीएए के विरोध पर भारी पड़ा समझौता

बोडो समझौता के बाद पहली बार असम पहुंचे PM मोदी, सीएए के विरोध पर भारी पड़ा समझौता

0
182

प्रधानमंत्री मोदी आज बोडो समझौते को लेकर कोकराझार में होने वाले समारोह में शिरकत करने असम पहुंच चुके हैं. कुछ ही देर में पीएम मोदी बोडो समझौते के बारे में लोगों को संबोधित भी करेंगे. समझौते पर 27 जनवरी, 2020 को नई दिल्‍ली में हस्‍ताक्षर किए गए थे. कोकराझार में प्रधानमंत्री के स्वागत की बड़ी तैयारियां की गई हैं. बोडो शांति समझौते के स्वागत में असम के लोगों ने कोकराझार जिले में लाखों दिए जलाकर अपनी खुशी का इजहार किया.

अभी ज्यादा दिन नहीं हुए जब पीएम नरेंद्र मोदी को संशोधित नागरिकात कानून (सीएए) को लेकर भड़के आक्रोश की वजह से असम में जापानी पीएम शिंजो आबे के साथ शिखर सम्मेलन को रद्द करना पड़ा था, लेकिन केंद्र सरकार के एक अन्य फैसले ने तस्वीर पूरी तरह बदल दी है. कोकराझार में लोगों ने अपनी खुशी जाहिर करते हुए गुरुवार को सड़कों और गलियों में मिट्टी के दीए जलाए. ऑल बोडो स्टूडेंट यूनियन (एबीएसयू) ने कोकराझार में बाइक रैली भी निकाली. पीएम के स्वागत की जोरदार तैयारियां की गई हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी असम के कोकराझार का दौरे पर हैं इस दौरान वह बोडो समझौते पर हस्ताक्षर होने का जश्न मनाने के लिए आयोजित एक कार्यक्रम में शामिल होंगे. पिछले दिसंबर में संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के खिलाफ प्रदर्शन शुरू होने के बाद से यह प्रधानमंत्री का पहला पूर्वोत्तर दौरा होगा.