Gujarat Exclusive > देश-विदेश > ‘मन की बात’ में बोले पीएम मोदी, जल ही जीवन, श्रद्धा और विकास की धारा

‘मन की बात’ में बोले पीएम मोदी, जल ही जीवन, श्रद्धा और विकास की धारा

0
209

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज अपने मासिक रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात’ के जरिए देशवासियों को संबोधित किया. मन की बात कार्यक्रम का यह 74वां संस्करण है. PM Modi Mann Ki Baat Water Conservation

पीएम मोदी ने देशवासियों को संबोधित करते हुए आत्मनिर्भार भारत का उल्लेख करते हुए कहा कि जब देश को आत्मनिर्भर बनता देखता हूं तो गर्व से सीना चौड़ा हो जाता है.

इतना ही नहीं इस मौके पर पीएम मोदी ने जल संरक्षण पर जोर देते हुए कहा कि जल हमारे लिए जीवन, आस्था और विकास की धारा है.

पानी एक तरह से पारस से भी ज़्यादा महत्वपूर्ण है. PM Modi Mann Ki Baat Water Conservation

पढ़ें PM मोदी के संबोधन की मुख्य बातें PM Modi Mann Ki Baat Water Conservation

मन की बात के जरिए देशवासियों को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने जल संरक्षण पर जोर दिया उन्होंने कहा कि जल हमारे लिए जीवन, आस्था और विकास की धारा है, पानी एक तरह से पारस से भी ज़्यादा महत्वपूर्ण है.

पानी के संरक्षण के लिए हमें अभी से ही प्रयास शुरू कर देने चाहिए, 22 मार्च को विश्व जल दिवस भी है. PM Modi Mann Ki Baat Water Conservation

मन की बात कार्यक्रम में प्रधानमंत्री ने कहा कि अब से कुछ दिन बाद ज​ल शक्ति मंत्रालय द्वारा जल शक्ति अभियान ‘कैच द रेन’ शुरू किया जा रहा है.

हमारे मंदिर प्रकृति के संरक्षण में अपनी अलग ही भूमिका निभा रहे हैं-PM मोदी PM Modi Mann Ki Baat Water Conservation

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज मन की बात का 74वां संस्करण पेश किया. इस मौके पर उन्होंने कहा कि हमारे यहां बहुत से भारतीय खेल हैं लेकिन उनमें कमेंट्री कल्चर नहीं आया है और इस वजह से वो लुप्त होने की स्थिति में हैं.

मैं खेल मंत्रालय और निजी संस्थानों से भारतीय खेलों की अधिक से अधिक भाषाओं में अच्छी कमेंट्री करने पर विचार करने का आग्रह करता हूं. PM Modi Mann Ki Baat Water Conservation

इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि असम में हमारे मंदिर प्रकृति के संरक्षण में अपनी अलग ही भूमिका निभा रहे हैं. आप हमारे मंदिरों को देखेंगे तो पाएंगे कि हर मंदिर के पास तालाब होता है.

इनका उपयोग विलुप्त होते कछुओं की प्रजातियों को बचाने के लिए किया जा रहा है. असम में कछुओं की सबसे अधिक प्रजातियां पाई जाती हैं.

देश को आत्मनिर्भर बनता देख गर्व से सीना चौड़ा हो जाता है PM Modi Mann Ki Baat Water Conservation

पीएम मोदी ने कहा कि जब हम आसमान में अपने देश में बने लड़ाकू विमान तेजस को कलाबाजियां खाते देखते हैं, जब भारत में बने टैंक, मिसाइलें हमारा गौरव बढ़ाते हैं.

जब हम दर्जनों देशों तक मेड इन इंडिया कोरोना वैक्सीन को पहुंचते देखते हैं तो हमारा माथा और ऊंचा हो जाता है. प्रधानमंत्री ने आगे कहा कि जब हम विज्ञान की बात करते हैं तो कई बार इसे लोग भौतिक विज्ञान और रसायन विज्ञान या फिर लैब तक ही सीमित कर देते हैं, लेकिन विज्ञान का विस्तार इससे कहीं ज़्यादा है और आत्मनिर्भर भारत अभियान में विज्ञान की शक्ति का बहुत योगदान है. PM Modi Mann Ki Baat Water Conservation

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

भारत का एक और सफल मिशन, इसरो ने अंतरिक्ष में भेजी पीएम मोदी की तस्वीर