Gujarat Exclusive > राजनीति > ‘किसान जिनकी पूजा करता है उसे ही लगाई जा रही आग’ पीएम मोदी का विपक्ष पर हमला

‘किसान जिनकी पूजा करता है उसे ही लगाई जा रही आग’ पीएम मोदी का विपक्ष पर हमला

0
451

पीएम मोदी (PM Modi) ने मंगलवार को ‘नमामि गंगे मिशन’ के तहत हरिद्वार, ऋषिकेश और बद्रीनाथ समेत उत्तराखंड के कई शहरों की 6 बड़ी परियोजनाओं का उद्घाटन किया. इस मौके पर पीएम मोदी (PM Modi) ने किसान आंदोलन को लेकर विपक्ष पर हमला बोला. पीएम ने ट्रैक्टर जलाए जाने को लेकर विपक्ष पर निशाना साधा.

पीएम (PM Modi) ने कहा कि विरोध करने वाले किसानों को आजाद नहीं होने देना चाहते हैं, किसान जिनकी पूजा करता है उसे ही आग लगाई जा रही है. पीएम मोदी ने कहा कि देश में MSP रहेगी और विपक्ष जो MSP पर दावा कर रहा है वो झूठा है.

पीएम ने कहा,

आज जब केंद्र सरकार, किसानों को उनके अधिकार दे रही है, तो भी ये लोग विरोध पर उतर आए. ये लोग चाहते हैं कि देश का किसान खुले बाजार में अपनी उपज नहीं बेच पाए. जिन सामानों की, उपकरणों की किसान पूजा करता है, उन्हें आग लगाकर ये  लोग अब किसानों को अपमानित कर रहे हैं.’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने कहा कि कृषि सुधारों का विरोध करने वालों द्वारा सिर्फ विरोध के लिए विरोध करने की लंबी फेहरिस्त है. डिजिटल भारत अभियान, जन धन योजना, GST, वन रैंक- वन पेंशन, राफेल, सर्जिकल स्ट्राइक, अंतरराष्ट्रीय योग दिवस, Statue of Unity, गरीबों सवर्णों को 10% आरक्षण, राम मंदिर निर्माण का इन लोगों ने विरोध किया.

यह भी पढ़ें: पायल घोष ने बताया अपनी जान को खतरा, राज्यपाल से मांगी Y कैटेगरी की सिक्योरिटी

‘नमामि गंगे’ के तहत 6 परियोजनाओं का उद्घाटन

6 परियोजनाओं की शुरुआत करते हुए पीएम मोदी (PM Modi) ने कहा कि आज मां गंगा की निर्मलता को सुनिश्चित करने वाली 6 बड़ी परियोजनाओं का लोकार्पण किया गया. इसमें हरिद्वार, ऋषिकेश, बद्रीनाथ और मुनि की रेती में सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट और म्यूजियम जैसे प्रोजेक्ट भी शामिल हैं, इनके लिए मैं उत्तराखंड के सभी लोगों को बहुत बधाई देता हूं.

 

पीएम मोदी (PM Modi) ने कहा, ‘उत्तराखंड में उद्गम से लेकर पश्चिम बंगाल में गंगा सागर तक मां गंगा देश की करीब-करीब आधी आबादी के जीवन को समृद्ध करती हैं. इसलिए गंगा की निर्मलता आवश्यक है, गंगा जी की अविरलता आवश्यक है. बीते दशकों में गंगा जल की स्वच्छता को लेकर बड़े बड़े अभियान शुरू हुए थे लेकिन उन अभियानों में न तो जन भागीदारी थी और न ही दूरदर्शिता.’

पीएम ने कहा,

अगर पुराने तौर-तरीके अपनाए जाते, तो आज भी हालत उतनी ही बुरी रहती लेकिन हम नई सोच, नई अप्रोच के साथ आगे बढ़े. हमने नमामि गंगे मिशन को सिर्फ गंगा जी की साफ-सफाई तक ही सीमित नहीं रखा, बल्कि इसे देश का सबसे बड़ा और विस्तृत नदी संरक्षण कार्यक्रम बनाया.’

पहली उत्तराखंड में 130 नाले गंगा में गिरते थे

पीएम ने कहा कि पहले उत्तराखंड में 130 नाले गंगा में गिरते थे, लेकिन अब इन्हें रोक दिया गया. प्रयागराज कुंभ में गंगा की सफाई लोगों ने सराहा और अब हरिद्वार कुंभ के लिए भी आगे प्रयास हो रहे हैं. मोदी बोले कि अब किसानों को जैविक खेती की ओर आकर्षित किया जा रहा है. साथ ही मैदानी इलाकों में मिशन डॉल्फिन से मदद मिलेगी.

पीएम ने कहा,

पहले पैसा पानी की तरह बहता था, लेकिन सफाई नहीं होती थी. अब पैसा ना पानी में बहता है और ना पानी की तरह बहता है.

पीएम मोदी ने कहा, ‘आज सरकार के इस चौतरफा काम का परिणाम हम सब देख रहे हैं. आज नमामि गंगे परियोजना के तहत 30 हजार करोड़ रुपये की परियोजनाओं पर काम चल रहा है या पूरा हो चुका है.’

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें