Gujarat Exclusive > देश-विदेश > 35 लाख किसानों को भेजे गए 1600 करोड़ रुपये, पीएम ने कृषि कानूनों पर की चर्चा

35 लाख किसानों को भेजे गए 1600 करोड़ रुपये, पीएम ने कृषि कानूनों पर की चर्चा

0
364

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए मध्य प्रदेश रायसेन में किसान कल्याण कार्यक्रम को संबोधित किया. इस दौरान मध्य प्रदेश के 35 लाख किसानों के खाते में 1600 करोड़ रुपये ट्रांसफर कर दिए गए. इस मौके पर पीएम (PM Modi) ने कृषि कानूनों को लेकर अपनी बात रखी.

पीएम मोदी (PM Modi) ने कहा, ‘बीते समय में ओले गिरने, प्राकृतिक आपदा की वजह से मध्य प्रदेश के किसानों का नुकसान हुआ है. आज इस कार्यक्रम मध्य प्रदेश के ऐसे 35 लाख किसानों के बैंक खातों में 1600 करोड़ रुपये भेजे जा रहे हैं. बीच में कोई दलाल नहीं है, कोई बिचौलिया नहीं है.’

यह भी पढ़ें: अवमानना मामले में सुप्रीम कोर्ट ने कुणाल कामरा से 6 हफ्तों में मांगा जवाब

पीएम ने कहा,

बीते कई दिनों से देश में किसानों के लिए जो नए कानून बने, उनकी बहुत चर्चा है. ये कृषि सुधार कानून रातों-रात नहीं आए. पिछले 20-22 साल से हर सरकार ने इस पर व्यापक चर्चा की है. कम-अधिक सभी संगठनों ने इन पर विमर्श किया है.

पीएम मोदी ने कहा,

“हमारी सरकार MSP को लेकर इतनी गंभीर है. स्वामीनाथन कमेटी की रिपोर्ट लागू करने का काम हमारी ही सरकार ने किया. अगर हमें MSP हटानी ही होती तो स्वामीनाथन कमेटी की रिपोर्ट लागू ही क्यों करते? पिछली सरकार ने अपने पांच साल में किसानों से लगभग 1700 लाख मिट्रिक टन धान खरीदा था. हमारी सरकार ने अपने पांच साल में 3,000 लाख मिट्रिक टन धान किसानों से MSP पर खरीदा है.”

किसानों से बातचीत करके हुए पीएम मोदी (PM Modi) ने कहा, ‘तेजी से बदलते हुए वैश्विक परिदृष्य में भारत का किसान, सुविधाओं के अभाव में, आधुनिक तौर तरीकों के अभाव में असहाय होता जाए, ये स्थिति स्वीकार नहीं की जा सकती. पहले ही बहुत देर हो चुकी है. जो काम 25-30 साल पहले हो जाने चाहिए थे, वो अब हो रहे हैं.’

विपक्ष पर बरसे पीएम

इस दौरा पीएम मोदी (PM Modi) ने विपक्ष पर निशाना साधा और कहा, ‘मैं सभी राजनीतिक दलों को कहना चाहता हूं कि आप अपना क्रेडिट अपने पास रखिए. मुझे क्रेडिट नहीं चाहिए. मुझे किसान के जीवन में आसानी चाहिए, समृद्धि चाहिए, किसानी में आधुनिकता चाहिए. कृपा करके किसानों को बरगलाना, उन्हें भ्रमित करना छोड़ दीजिए. अचानक भ्रम और झूठ का जाल बिछाकर अपनी राजनीतिक जमीन जोतने के खेल खेले जा रहे हैं. किसानों के कंधे पर बंदूक रखकर वार किए जा रहे हैं.’

किसानों को मिला नुकसान का पैसा

बता दें कि मध्य प्रदेश के 35 लाख किसानों के खाते में 1600 करोड़ रुपये ट्रांसफर कर दिए गए हैं. 15 दिसंबर को हुई कैबिनेट मीटिंग के दौरान सीएम शिवराज ने यह घोषणा की थी. यह इसी साल हुई सोयाबीन आदि फसलों के नुकसान का पैसा है. यह राशि कुल भुगतान की एक तिहाई है. किसान महासम्मेलन के दौरान प्रदेश के लगभग 2000 पशुपालक और मछली पालक को किसान क्रेडिट कार्ड का वितरण किया गया.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें