Gujarat Exclusive > हमारी जरूरतें > PM मोदी ने स्वामित्व योजना का किया आगाज, विपक्ष पर ग्रामीण-गरीबों की अनदेखी का आरोप

PM मोदी ने स्वामित्व योजना का किया आगाज, विपक्ष पर ग्रामीण-गरीबों की अनदेखी का आरोप

0
202
  • लोकनायक जयप्रकाश नारायण और नानाजी देशमुख की जयंती
  • पीएम मोदी ने भू-संपत्ति मालिकों के लिए ‘स्वामित्व’ योजना का किया आगाज
  • विपक्ष पर ग्रामीण और गरीबों की अनदेखी का लगाया आरोप

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज लोकनायक जयप्रकाश नारायण और नानाजी देशमुख की जयंती पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से भू-संपत्ति मालिकों के लिए ‘स्वामित्व’ योजना का आगाज किया.

पीएम मोदी के इस पहल को ग्रामीण भारत में बदलाव के लिए बड़े सुधार की कोशिशों के रूप में देखा जा रहा है.

इस योजना के तहत 6 राज्यों के 763 गांवों में स्वामित्व योजना के तहत एक लाख लोगों को उनके घरों का प्रॉपर्टी कार्ड वितरण किया गया.

PM मोदी ने स्वामित्व योजना का किया आगाज

इस मौके पर सभी लाभार्थियों ने अपना स्वामित्व कार्ड ऑनलाइन डाउनलोड किया. संबंधित राज्य सरकारें संपत्ति कार्ड का फिजिकल वितरण जल्द ही लाभार्थियों को सौंपेगी.

पीएम मोदी ने स्वामित्व कार्ड डाउनलोड करने वाले लोगों को बधाई देते हुए कहा कि इस पहल से ग्रामीण भारत में बड़ा बदलाव देखने को मिलेगा.

उन्होंने कहा कि इस योजना का लाभ लेने वाले लोगों के लिए आज का दिन खुशियों का है. उन्होंने कहा कि अब सपने बुनने का समय आ गया है.

पीएम मोदी ने कहा कि इस योजना का लाभ लेने वाले लोगों को कई जगहों पर इससे फायदा भी मिलेगा.

यह भी पढ़ें: जमीन विवाद को लेकर राजस्थान के बाद अब उत्तर प्रदेश में पुजारी पर जानलेवा हमला

पीएम मोदी ने विपक्ष पर ग्रामीण-गरीबों की अनदेखी का लगाया आरोप

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस मौके पर विपक्ष पर ग्रामी और गरीबों की अनदेखी का आरोप लगाते हुए कहा कि लंबे समय से सत्ता में रहने वाले लोगों ने गांव और गांव में रहने वाले लोगों को उनके हालत पर छोड़ दिया था.

लेकिन हमारी सरकार ने ऐसा नहीं किया हमने सालों में इनके लिए इतना काम किया जितना विपक्ष ने दशकों में भी नहीं किया था.

इतना ही नहीं उन्होंने कृषि कानून पर भी विपक्ष पर हमला बोलते हुए पीएम मोदी ने कहा कि विपक्ष झूठ बोलकर जनता को गुमराह कर रही है.

इस मौके पर पीएम मोदी ने लाभार्थियों से बातचीत भी किया. पीएम मोदी ने योजना का लाभ लाभार्थियों को बताते हुए कहा कि अब ग्रामीण अपनी जमीन और संपत्ति को एक वित्तीय संपत्ति के तौर पर इस्तेमाल कर सकेंगे.

इसके एवज में बैंक से लोन जैसी सुविधा भी ले सकेंगे.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

आज भी कई भारतीय दलित, मुस्लिम और आदिवासियों को इंसान नहीं मानते: राहुल गांधी