Gujarat Exclusive > देश-विदेश > राज्यसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर पीएम मोदी का धन्यवाद प्रस्ताव, पढ़ें मुख्य बातें

राज्यसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर पीएम मोदी का धन्यवाद प्रस्ताव, पढ़ें मुख्य बातें

0
314

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को राज्यसभा में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर सदन को संबोधित किया. PM Modi Rajya Sabha

इस मौके पर पीएम मोदी ने जहां विपक्ष पर हमला बोलते हुए राष्ट्रपति के भाषण का बहिष्कार करने के मामले को दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया.

वहीं कोरोना काल में भारत ने किस तरीके से एकजुट होकर काम किया उसका भी उल्लेख किया इतना ही नहीं पीएम मोदी ने कृषि कानूनों पर भी राज्यसभा में बात रखी.

आईए जानते हैं पीएम मोदी ने राज्यसभा में क्या कुछ कहा

राज्यसभा में पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना काल में दुनिया में लोग निवेश के लिए तरस रहे हैं लेकिन भारत में रिकॉर्ड निवेश हो रहा है. PM Modi Rajya Sabha

तथ्य बता रहे हैं कि अनेक देशों की आर्थिक स्थिति डांवाडोल है जबकि दुनिया भारत में डबल डिजिट ग्रोथ का अनुमान लगा रही है. इतना ही नहीं राज्यसभा में प्रधानमंत्री ने सदन को संबोधित करते हुए कहा कि भारत के लिए दुनिया ने बहुत आशंकाएं जताई थीं. विश्व बहुत चिंतित था कि अगर कोरोना की इस महामारी में भारत अपने आप को संभाल नहीं पाया तो न सिर्फ भारत, पूरी मानव जाति के लिए इतना बड़ा संकट आ जाएगा, ये आशंकाएं सभी ने जताई.

लेकिन सोशल मीडिया पर देखा होगा फुटपाथ पर छोटी झोपड़ी लगाकर बैठी एक बुढ़ी मां अपनी झोपड़ी के बाहर दीया जलाकर भारत के शुभ के लिए कामना कर रही है. हम उसका मजाक उड़ा रहे हैं, उस भावना का मखौल उड़ा रहे हैं! विरोध करने के लिए कितने मुद्दे हैं

कोरोना संकटकाल में विपक्ष ने की आलोचना PM Modi Rajya Sabha

पीएम मोदी ने आगे कहा कि यहां लोकतंत्र को लेकर काफी उपदेश दिए गए हैं. मैं नहीं मानता कि जो बातें बताई गई हैं देश का कोई भी नागरिक उन पर भरोसा करेगा. PM Modi Rajya Sabha

भारत का लोकतंत्र ऐसा नहीं है जिसकी खाल हम इस तरह से उधेड़ सकते हैं, ऐसी गलती हम न करें. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि हमारा लोकतंत्र किसी भी मायने में वेस्टर्न इंस्टीट्यूशन नहीं है.

ये एक ह्यूमन इंस्टीट्यूशन है. भारत का इतिहास लोकतांत्रिक संस्थानों के उदाहरणों से भरा पड़ा है. प्राचीन भारत में 81 गणतंत्रों का वर्णन मिलता है.

पीएम किसान सम्मान निधि योजना से किसानों को हुआ फायदा PM Modi Rajya Sabha

सदन में पीएम मोदी ने कहा कि पीएम किसान सम्मान निधि योजना से सीधे किसान के खाते में मदद पहुंच रही है. 10 करोड़ ऐसे किसान परिवार हैं जिनको इसका लाभ मिल गया.

अगर बंगाल में राजनीति आड़े नहीं आती, तो ये आंकड़ा उससे भी ज्यादा होता. अब तक 1 लाख 15 हज़ार करोड़ रुपये किसान के खाते में भेजे गये हैं. PM Modi Rajya Sabha

इस मौके पर प्रधानमंत्री ने कहा कि शरद पवार, कांग्रेस और हर सरकार ने कृषि सुधारों की वकालत की है कोई पीछे नहीं है. मैं हैरान हूं अचानक यूटर्न ले लिया.

आप आंदोलन के मुद्दों को लेकर इस सरकार को घेर लेते लेकिन साथ-साथ किसानों को कहते कि बदलाव बहुत जरूरी है तो देश आगे बढ़ता.

मनमोहन सरकार के काम को पूरा कर रही हमारी सरकार PM Modi Rajya Sabha

मनमोहन सिंह जी ने किसान को उपज बेचने की आज़ादी दिलाने, भारत को एक कृषि बाज़ार दिलाने के संबंध में अपना इरादा व्यक्त किया था और वो काम हम कर रहे हैं. PM Modi Rajya Sabha

आप लोगों को गर्व होना चाहिए कि देखिए मनमोहन सिंह जी ने कहा था वो मोदी को करना पड़ रहा है. जो लोग उछल-उछल कर राजनीतिक बयानबाज़ी करते हैं, उनके राज्य में जब उनको मौका उन्होंने इसमें से आधा-अधूरा कुछ न कुछ किया है.

दूध उत्पादन किन्हीं बंधनों में बंधा हुआ नहीं है. दूध के क्षेत्र में या तो प्राइवेट या को-ऑपरेटिव दोनों मिलकर कार्य कर रहे हैं. PM Modi Rajya Sabha

पशुपालकों जैसी आज़ादी, अनाज और दाल पैदा करने वाले छोटे और सीमांत किसानों को क्यों नहीं मिलनी चाहिए.

पीएम मोदी ने सदन को संबोधित करते हुए आगे कहा कि भारत अस्थिर, अशांत रहे इसके लिए कुछ लोग लगातार कोशिश कर रहे हैं, हमें इन लोगों को जानना होगा.

हम ये न भूलें कि जब बंटवारा हुआ तो सबसे ज़्यादा पंजाब को भुगतना पड़ा, जब 1984 के दंगे हुए सबसे ज़्यादा आंसू पंजाब के बहे.

प्रधानमंत्री ने कहा कि कुछ लोग खासकर पंजाब के सिख भाईयों के दिमाग में गलत चीजें भरने में लगे हैं, ये देश हर सिख के लिए गर्व करता है.

कुछ लोग उनके लिए जो भाषा बोलते हैं, उनको गुमराह करने की कोशिश करते हैं इससे कभी देश का भला नहीं होगा.

मैं देख रहा हूं कि पिछले कुछ समय से इस देश में एक नई जमात पैदा हुई है ‘आंदोलनजीवी’. वकील, छात्रों, मजदूरों के आंदोलन में ये लोग नज़र आते हैं. PM Modi Rajya Sabha

ये पूरी एक टोली है जो आंदोलन के बिना जी नहीं सकते हैं और आंदोलन से जीने के लिए रास्ते खोजते रहते हैं.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

ना जवान ना किसान, मोदी सरकार के लिए 3-4 उद्योगपति मित्र ही भगवान: राहुल गांधी