Gujarat Exclusive > हमारी जरूरतें > सीएम संग बैठक के बाद बोले पीएम- टीका पर चल रहा काम, लापरवाही नहीं होनी चाहिए

सीएम संग बैठक के बाद बोले पीएम- टीका पर चल रहा काम, लापरवाही नहीं होनी चाहिए

0
316

देश में जारी कोरोना संकट के बीच मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक की. बैठक में हाल ही में बढ़ते हुए कोरोना के केस और वैक्सीन के वितरण से जुड़े मुद्दों पर बात हुई. वर्चुअल तरीके से हुई बैठक में पीएम मोदी (PM Modi) ने कहा कहा कि कोरोना वैक्सीन को लेकर काम चल रहा है लेकिन इसको लेकर लापरवाही नहीं होनी चाहिए. इस बैठक में गृहमंत्री अमित शाह भी मौजूद थे.

कोरोना वायरस के बचाव के लिए तैयार की जा रही वैक्सीन्स पर चर्चा करते हुए पीएम मोदी (PM Modi) ने कहा,

यह अभी तय नहीं हुआ है कि किस वैक्सीन का मूल्य कितना रखा जाएगा. हालांकि, भारत में बनाए जा रहे दो टीके इस रेस में सबसे आगे हैं, हम वैश्विक कंपनियों के साथ भी काम कर रहे हैं. दवाओं के उपलब्ध होने के बाद भी, कुछ लोगों की प्रतिकूल प्रतिक्रियाएं हो सकती हैं इसलिए निर्णय वैज्ञानिक आधार पर लिया जाना चाहिए.

पीएम मोदी ने आगे कहा,

मैं राज्यों से आग्रह करता हूं कि वे जल्द से जल्द विस्तृत योजनाएं भेजें. यह निर्णय लेने में हमारी मदद करेगा क्योंकि आपके अनुभव मूल्यवान हैं. मुझे आपकी समर्थक सक्रिय भागीदारी की आशा है. टीका का काम चल रहा है लेकिन मेरा आपसे अनुरोध है कि इसमें कोई लापरवाही नहीं होनी चाहिए, कोरोना से लड़ाई ढीली नहीं पड़नी चाहिए.

साथ ही प्रधानमंत्री (PM Modi) ने कहा कि भारत बेहतर वैक्सीन पर ही जोर देगा और हर वैक्सीन को वैज्ञानिक तौर पर परखा जाएगा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक में कहा कि कोरोना से लड़ाई में हर कोई जारी है, अगर मुख्यमंत्रियों के पास कुछ और सुझाव हैं तो लिखित में उन्हें हमें दे दें. पीएम मोदी ने कहा कि देश में टेस्टिंग का नेटवर्क काम कर रहा है, देश में मेडिकल कॉलेज और जिला अस्पतालों में ऑक्सीजन सप्लाई का काम चल रहा है.

पीएम मोदी (PM Modi) ने कहा, ”हमारे लिए सुरक्षा काफी महत्वपूर्ण है, जितनी भी वैक्सीन अपने नागरिकों को दी जाएंगी वह सभी वैज्ञानिक मानकों पर सुरक्षित होंगी. राज्यों के साथ सामूहिक समन्वय के साथ वैक्सीन वितरण की रणनीति तैयार की जाएगी. राज्यों को भी कोल्ड स्टोरेज की सुविधा शुरू करनी चाहिए.”

कुछ लोग कर रहे राजनीति

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने ये भी कहा कि कुछ लोग वैक्सीन पर राजनीति कर रहे हैं और मैं लोगों को राजनीति करने से नहीं रोक सकता. राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक में पीएम मोदी ने कहा कि हमारे वैज्ञानिक पूरी तरह कोशिश में लगे हैं लेकिन हम खुद ये तय नहीं कर सकते कि वैक्सीन कब तक आ पाएगी.

पॉजिटिविटी रेट नीचे लाएं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने आठ राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ हुई बैठक में निर्देश दिया कि सभी को कोरोना का पॉजिटिविटी रेट 5% के नीचे ले आने की कोशिश करनी चाहिए. पीएम ने कोरोना के लिए किए जाने वाले RT-PCR टेस्ट की संख्या भी बढ़ाने को कहा. फिलहाल कोविड के लिए रैपिड एंटीजन टेस्ट और RT-PCR टेस्ट किए जा रहे हैं, जिनमें रैपिड एंटीजन टेस्ट की संख्या ज्यादा है.

28 नवंबर को सीरम इंस्टीट्यूट जाएंगे पीएम

इसी बीच खबर है कि पीएम मोदी 28 नवंबर को पुणे के सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया में जाएंगे. सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया कोविशिल्ड नामक वैक्सीन का इंडिया में तीसरे फेस का ट्रायल कर रही है जबकि इस वैक्सीन को बनाने वाली ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी और एस्ट्रेजनेका ने अन्य देशों में तीसरे फेस का ट्रायल खत्म कर दिया है और वैक्सीन अप्रूवल के लिए यूके अथॉरिटी के सामने प्रपोजल भेजा है.

सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने वैक्सीन के प्रोडक्शन का काम भी तेज कर दिया है ताकि इंडिया में फेस 3 का ट्रायल खत्म होते ही अप्रूवल के साथ वैक्सीन को आम जनता के लिए मार्केट में उतारा जा सके. यही वजह है कि प्रधानमंत्री हौसला अफजाई के लिए पुणे के सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया में 28 तारीख को जाएंगे. उस दिन कुछ ऐलान भी किया जाए.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें