Gujarat Exclusive > गुजरात > पुलिस ग्रेड पे मामला: रूपाणी सरकार के खिलाफ क्षत्रिय समुदाय करेगा आंदोलन

पुलिस ग्रेड पे मामला: रूपाणी सरकार के खिलाफ क्षत्रिय समुदाय करेगा आंदोलन

0
1708

दीपक मस्ला, अहमदाबाद: गुजरात पुलिस के ग्रेड पे और एसआरपी जवानों के सवालों को जल्द से जल्द हल करने की मांग को लेकर क्षत्रिय समाज के नेताओं ने आणंद जिला कलेक्टर को लिखित आवेदन दिया. आवेदन में कहा गया कि अगर इन मुद्दों को हल नहीं किया गया तो क्षत्रिय युवा सेना राज्य भर में उग्र आंदोलन करेगी. इस धमकी के बाद सूत्रों के मिल रही जानकारी अनुसार, गुजरात आईबी ने किसी भी अप्रिय घटना को रोकने के लिए सभी पुलिस आयुक्तों, रेंज प्रमुखों और एसपी को सतर्क रहने का निर्देश दिए हैं. इसीलिए पुलिस के लिए होने वाले आंदोलन को रोकने की जिम्मेदारी भी पुलिस के कंधे पर दी गई है.

पुलिस के ग्रेड पे और एसआरपी के सवालों को लेकर रातों रात एक गुप्त अभियान चलाया गया. सोशल मीडिया पर शुरू होने वाले इस अभियान को शुरु में नजरअंदाज करने वाले शीर्ष पुलिस अधिकारियों की अब नींद हराम हो गई है. दूसरी ओर राज्य सरकार भी अभियान को रोकने के लिए भी विचार कर रही है. इस बीच राज्य के डीजीपी ने भी पुलिस अधिकारियों को इशारे-इशारे में समझाने की कोशिश के साथ ही साथ चेतावनी भी दी है.

क्षत्रिय समाज के नेता अभिजीत बारडे ने मुख्यमंत्री विजय रूपानी और गृह मंत्री प्रदीपसिंह जडेजा को लिखित अभ्यावेदन देते हुए पुलिसकर्मियों के विभिन्न मुद्दों को तत्काल प्रभाव से हल करने की मांग को लेकर आणंद कलेक्टर को आवेदन सौंपा. इस दौरान क्षत्रिये नेताओं ने धमकी देते हुए कहा कि सरकार अगर हमारी मांगों को जल्द से जल्द नहीं मानेगी तो क्षत्रिय युवा सेना राज्य में उग्र आंदोलन करेगी.

आणंद जिला युवा क्षत्रिय सेना के अध्यक्ष विजयसिंह परमार और उपाध्यक्ष जयप्रकाश चावड़ा की अगुवाई में 5 की संख्या में विविध आंदोलन करने की बात सामने आई है. पुलिस सूत्रों ने बताया कि पूरे राज्य में पुलिस विवाद को लेकर युवा क्षत्रिय सेना द्वारा आंदोलन के संकेत के बाद किसी भी अप्रिय घटना को रोकने के लिए राज्य के आईबी को सतर्क रहने का निर्देश दिया गया है.

राज्य के पुलिस विभाग की मांग को लेकर आंदोलन चलाने की धमकी देने वाली क्षेत्रिय सेना की धमकी के बाद राज्य में किसी अप्रिय घटना को रोकने के लिए पुलिस को ही जिम्मेदारी दी गई है. ऐसे में देखना दिलचस्प होगा कि आने वाले दिनों में पुलिस परिस्थिति पर काबू पाने के लिए कैसा कदम उठाती है.

परेश रावल के भाई के जुआखाने पर पुलिस का छापा, 20 जुआरी गिरफ्तार