Gujarat Exclusive > देश-विदेश > महाराष्ट्र: स्वास्थ्यकर्मियों की बड़ी लापरवाही, 12 बच्चों को पोलियो ड्रॉप की जगह पिला दिया सेनेटाइजर

महाराष्ट्र: स्वास्थ्यकर्मियों की बड़ी लापरवाही, 12 बच्चों को पोलियो ड्रॉप की जगह पिला दिया सेनेटाइजर

0
236

पूरे देश में पोलियो (Polio Drop) अभियान की शुरुआत पिछले रविवार को हो चुकी है. इस सिलसिले में देश के कई राज्यों में पोलियो (Polio Drop) अभियान चलाया जा रहा है लेकिन महाराष्ट्र में इस दौरान स्वास्थ्य विभाग की ओर से घोर लापरवाही देखने को मिली है. महाराष्ट्र के यवतमाल में 12 बच्चों को पोलियो ड्रॉप की जगह हैंड सेनेटाइजर पिला दिया गया.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, यवतमाल में पांच साल से कम उम्र वाले 12 बच्चों को तब अस्पताल में भर्ती कराना पड़ गया, जब सोमवार को उन्हें पोलियो ड्रॉप (Polio Drop) की जगह हैंड सैनिटाइज़र पिला दिया गया. यवतमाल जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्रीकृष्णा पांचाल ने इसकी जानकारी दी.

यह भी पढ़ें: किसान आंदोलन के मुद्दे पर राज्यसभा में भारी हंगामा, कार्यवाही कल तक के लिए स्थगित

दरअसल, रविवार की सुबह यवतमाल की एक ग्राम पंचायत में राष्ट्रीय पोलियो (Polio Drop) अभियान चलाया गया. यहां 12 बच्चों को पोलियो ड्रॉप की जगह हैंड सेनेटाइजर पिला दिया गया. इसके बाद इन बच्चों ने देर रात उल्टी और स्वास्थ्य संबंधी शिकायतों की बात कही. तबीयत बिगड़ने पर इन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया.

बच्चों के नाम गिरम गेदाम, योगश्री गेदाम, हर्ष मेश्राम, भावना अर्के, वेदांत मेश्राम, राधिका मेश्राम, प्राची मेश्राम, माही मेश्राम, तनुज गेदाम, निशा मेश्राम, आस्था मेश्राम बताया जा रहा है. फिलहाल अस्पताल में इनका इलाज चल रहा है.

तीन स्वास्थ्यकर्मी निलंबित

यवतमाल जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्रीकृष्णा पांचाल ने बताया कि अस्पताल में भर्ती बच्चे अब ठीक हैं और इस घटना से जुड़े तीन कर्मचारियों- एक स्वास्थ्यकर्मी, एक डॉक्टर और एक आशा वर्कर को निलंबित किया जाएगा.

पांचाल ने सोमवार को ANI को बताया, ‘यवतमाल मेंपांच साल की उम्र से कम के 12 बच्चों को पोलियो ड्रॉप (Polio Drop) की बजाय हैंड सैनिटाइज़र दे दिया गया था. उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था. अब वो ठीक हैं. एक स्वास्थ्यकर्मी, एक डॉक्टर और एक आशा वर्कर को निलंबित किया जाएगा. इस मामले की जांच चल रही है.’

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें