Gujarat Exclusive > राजनीति > सियासी दल हमें खुलकर बोलने की अनुमति नहीं देते, यह भारतीय संसद की त्रासदी: कपिल सिब्बल

सियासी दल हमें खुलकर बोलने की अनुमति नहीं देते, यह भारतीय संसद की त्रासदी: कपिल सिब्बल

0
112

नई दिल्ली: समाजवादी पार्टी के समर्थन से निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर राज्यसभा चुनाव के लिए नामांकन करने वाले कांग्रेस के पूर्व नेता कपिल सिब्बल का बड़ा बयान सामने आया है. सिब्बल ने कहा कि आज देश की कोई भी राजनीतिक दल आपको खुलकर बोलने की अनुमति नहीं देती है. यह भारतीय संसद की भयंकर त्रासदी है.

नामांकन दाखिल करने के बाद दिल्ली पहुंचे कपिल सिब्बल ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि मैं संसद में स्वंतत्र आवाज़ बनना चाहता हूं क्योंकि अगर आप राजनीतिक दल में होते हैं तो आप ये नहीं कह सकते कि वे क्या सोचते हैं और उन्होंने क्या फैसला लिया. निर्दलीय उम्मीदवार होने के नाते मैं संसद में और संसद के बाहर जो हो रहा है उस पर अपना स्पष्ट बयान दे सकता हूं.

कल दाखिल किया था नामांकन

समाजवादी पार्टी के समर्थन से राज्यसभा चुनाव के लिए नामांकन भरने के बाद कपिल सिब्बल ने कहा था कि मैंने निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में राज्यसभा के लिए नामांकन भरा है. मैं अखिलेश यादव का आभारी हूं कि उन्होंने मेरा समर्थन किया. मैं आजम ख़ान के प्रति भी आभार प्रकट करता हूं.

मोदी सरकार का खुलकर करेंगे विरोध

नामांकन दाखिल करने के बाद मीडिया से बातचीत करते हुए कपिल सिब्बल ने कहा कि मैं समझता हूं कि जब एक निर्दलीय की आवाज उठेगी तो लोगों को ऐसा लगेगा कि वे किसी पार्टी से नहीं जुड़े हुए हैं. हम विपक्ष में रहकर गठबंधन बनाना चाहते हैं ताकि हम मोदी सरकार का विरोध करें. हम चाहते हैं कि 2024 में ऐसा माहौल बने कि मोदी सरकार की जो खामियां हैं, उसे जनता तक पहुंचाया जा सकें. मैं इसका प्रयास करूंगा.

भारत में बीते 24 घंटों में 2628 नए केस दर्ज, एक्टिव मामलों की संख्या 15 हजार के पार