Gujarat Exclusive > राजनीति > पत्रकार की हत्या कहा ‘वादा था राम राज का दे दिया गुंडाराज’

पत्रकार की हत्या कहा ‘वादा था राम राज का दे दिया गुंडाराज’

0
1226

पत्रकार की हत्या पर तेज हुई सियासत, राहुल ने कहा- वादा था राम राज का दे दिया गुंडाराज

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से सटे गाजियाबाद में भांजी के साथ छेड़खानी का विरोध. करने वाले पत्रकार पर सोमवार रात बदमाशों हमला कर दिया था. गोली लगने के बाद स्थानिक पत्रकार विक्रम जोशी .जिंदगी और मौत से जंग लड़ रहे थे. लेकिन आज सुबह उनकी मौत हो गई. इस मामले को लेकर जहां पत्रकार का परिजन इंसाफ की मांग.को लेकर शव लेने से इनकार कर दिया है वहीं सियासत भी तेज हो गई है.

मामले को लेकर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी उत्तर प्रदेश की योगी सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि वादा था राम राज का, दे दिया गुंडाराज. इतना ही नहीं उन्होंने ट्वीट कर लिखा- राहुल गांधी ने बुधवार को अपने ट्वीट में लिखा- अपनी भांजी के साथ छेड़छाड़ का विरोध करने पर पत्रकार  .विक्रम जोशी की हत्या कर दी गयी. शोकग्रस्त परिवार को मेरी सांत्वना.

योगी सरकार पर हमला

इसी मामले को लेकर कल कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने भी योगी सरकार पर हमला बोला था. उन्होंने ट्वीट कर लिखा- गाजियाबाद NCR में है. यहां कानून व्यवस्था का ये आलम है तो आप पूरे यूपी में कानून व्यवस्था के हाल का अंदाजा लगा लीजिए. एक पत्रकार को इसलिए गोली मार दी गई क्योंकि उन्होंने भांजी के साथ छेड़छाड़ की तहरीर पुलिस में दी थी. इस जंगलराज में कोई भी आमजन खुद को कैसे सुरक्षित महसूस करेगा?

बदमाशों द्वारा पत्रकार को गोली मारने के मामले को लेकर .उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भी सवाल उठाते हुए ट्वीट कर लिखा- ग़ाज़ियाबाद में अपनी बेटी के साथ बाइक पर जा रहे एक पत्रकार को गोली मारने से प्रदेश की जनता सकते में हैं. भाजपा सरकार स्पष्ट करे कि क़ानून-व्यवस्था की धज्जियाँ उड़ानेवाले इन अपराधियों-बदमाशों के हौसले किसके बलबूते पर फल-फूल रहे हैं. उनके नवजीवन के लिए प्रार्थना!

आज सुबह इलाज के दौरान पत्रकार विक्रम जोशी ने दम तोड़ दिया .परिजन पुलिस पर कार्यवाही नहीं करने का आरोप लगाते हुए इंसाफ की मांग किया है. परिजनों ने कहा कि जबतक पुलिस मुख्य .आरोपी को गिरफ्तार नहीं करती हम शव को नहीं लेंगे.

भांजी से छेड़खानी का विरोध करने वाले पत्रकार की मौत, परिजन ने शव लेने से किया इनकार