Gujarat Exclusive > राजनीति > चुनावी मौसम में होने वाली फायरिंग पर शुरु हुई सियासत, आप और कांग्रेस ने अनुराग को बनाया निशाना

चुनावी मौसम में होने वाली फायरिंग पर शुरु हुई सियासत, आप और कांग्रेस ने अनुराग को बनाया निशाना

0
209

दिल्ली की जामिया यूनिवर्सिटी के छात्रों ने महात्मा गांधी की पुण्यतिथि पर जामिया से राजघाट तक नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ मार्च निकाला. इस मार्च में उस वक्त हड़कंप मच गया जब एक युवक ने प्रदर्शन के दौरान गोली चला दी इस मामले के बाद जहां दिल्ली के लचर कानून व्यवस्था पर सवाल उठ रहे हैं. वहीं चुनावी मौसम में होने वाली इस फायरिंग पर जमकर नेताओं के बयान आ रहे हैं.

दिल्ली की सत्ता पर बैठी आम आदमी पार्टी ने इस घटना का जिम्मेदार बीजेपी को ठहराया है. AAP सांसद संजय सिंह ने बीजेपी पर चुनाव हारने के डर से ऐसे करवाने का आरोप लगाया उन्होंने कहा कि, “बीजेपी हार के डर से दिल्ली का चुनाव स्थगित करना चाहती है इसलिए इनके नेता भड़काऊ भाषण देकर दिल्ली का माहौल लगातार खराब कर रहे है, आज जामिया में हुआ हमला भी इसी का हिस्सा है.”

वहीं इस मामले को लेकर कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी अनुराग ठाकुर पर हमला बोलते हुए कहा कि बीजेपी नेता गोली मारने के लिए भड़काएंगे और उकसाएंगे तो ये सब मुमकिन है. प्रियंका ने लिखा, “जब बीजेपी सरकार के मंत्री और नेता लोगों को गोली मारने के लिए उकसाएंगे, भड़काऊ भाषण देंगे तब ये सब होना मुमकिन है. प्रधानमंत्री को जवाब देना चाहिए कि वे कैसी दिल्ली बनाना चाहते हैं? वे हिंसा के साथ खड़े हैं या अहिंसा के साथ? वे विकास के साथ खड़े हैं या अराजकता के साथ?”

हमले के बाद चौतरफा घिरी बीजेपी की तरफ से सांसद मीनाक्षी लेखी का बयान आया, लेखी ने इस घटना को शाहीन बाग प्रदर्शन से जोड़ दिया. मीनाक्षी लेखी ने इसे एक नाटक करार देते हुए कहा, “ये सब कुछ जो नाटक चल रहा है, अब किस मुंह से उठेंगे वो समझ नहीं आ रहा क्योंकि 8 तारीख नजदीक आ रही है. जिस वजह से वो लोग बैठे थे उनका वो मकसद भी पलटता हुआ नजर आ रहा है, तो उठने का बहाना चाहिए.”