Gujarat Exclusive > देश-विदेश > कोरोना का केंद्र रहे वुहान में बिना मास्क पहने पूल पार्टी करते दिखे हजारों लोग

कोरोना का केंद्र रहे वुहान में बिना मास्क पहने पूल पार्टी करते दिखे हजारों लोग

0
522

कोरोना वायरस की उत्पत्ति चीन के शहर वुहान से हुई थी. अब वहां लोग इतने लापरवाह हो गए हैं कि बिना मास्क के पूल पार्टी करते दिखाई दे रहे हैं. वुहान में एक पूल पार्टी का आयोजन चर्चा का केंद्र बन गया है. सोशल मीडिया पर वायरल हो रही इस पूल पार्टी में हजारों लोग बिना मास्क पहने शामिल हुए.

न्यूज एजेंसी एएफपी के मुताबिक पिछले दिनों वुहान में एक पूल पार्टी का आयोजन किया गया.
इस दौरान हजारों की संख्या में लोग बिना मास्क पहने पार्टी करते देखे गए.

यह भी पढ़ें: महागठबंधन से अलग हुई बिहार के पूर्व सीएम जीतन राम मांझी की पार्टी

दरअसल चीन के कई शहरों में पूल पार्टी करने की छूट दे दी गई है.
इनमें कुछ आसान शर्तों को पूरा कर एक बार में हजारों लोग शामिल हो रहे हैं.
सख्त निर्देशों के बाद भी ये लोग न तो मास्क लगा रहे हैं और न ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर रहे हैं.
हैरानी की बात है ऐसी पार्टियां वुहान शहर में भी हो रही है, जहां से पिछले साल दुनिया भर में कोरोना संक्रमण का फैला था.

वुहान के अलावा शंघाई और चांगकिंग शहर में भी पूल पार्टी होने की बात सामने आई है।

पार्टी में म्यूजिकल कंसर्ट का आयोजन

जानकारी के अनुसार इस पार्टी का आयोजन सप्ताहांत पर किया गया था। माया बीच वाटरपार्क पर हुई इस पार्टी में म्यूजिकल कंसर्ट (संगीत कार्यक्रम) का आयोजन भी किया गया था.
कोरोना वायरस वुहान से ही बाहर निकला था, जिसने पूरी दुनिया को चपेट में ले लिया था.
करीब तीन महीने के लिए एक तरह से दुनिया की रफ्तार पूरी तरह थम गई थी.

सोशल डिस्टेंसिंग की उड़ी धज्जियां

इस पार्टी दौरान न तो लोगों ने मास्क ही पहने हुए थे और न ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया गया. इस पार्टी की तस्वीरों से लगता है कि वहां के लोग नजदीकी संपर्क की वजह से संक्रमण के खतरे को भुला बैठे हैं.

पिछले साल चीन से पनपे कोरोना वायरस के कारण करीब आठ लाख लोग अपनी जान गंवा चुके हैं.
वहीं कोरोना के दो करोड़ 21 लाख 11 हजार 466 मामले सामने आ चुके हैं.
चीन में भी चार हजार से ज्यादा लोगों की मौत हुई है.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

स्वच्छ सर्वेक्षण 2020: स्वच्छ शहरों में इंदौर का दबदबा कायम, सूरत को मिला दूसरा स्थान