Gujarat Exclusive > देश-विदेश > कोरोना को मात देने की तैयारी, भारतीय सेना ने शुरू किया ‘ऑपरेशन नमस्ते’

कोरोना को मात देने की तैयारी, भारतीय सेना ने शुरू किया ‘ऑपरेशन नमस्ते’

0
365

देशभर में फैले कोरोना वायरस से निपटने के लिए भारतीय सेना ने मोर्चा संभाल लिया है. कोरोना के खिलाफ जंग को ‘ऑपरेशन नमस्ते’ नाम दिया गया है. आर्मी चीफ जनरल मनोज मुकुंद नरवणे ने ‘ऑपरेशन नमस्ते’ के बारे में बताया कि जवानों की छुट्टी पर पाबंदी लगाई गई है.

मनोज मुकुंद नरवणे ने बताया कि जब साल 2001 में ऑपरेशन पराक्रम शुरू हुआ था तब 8-10 महीने में कोई छुट्टी पर नहीं गया था. उसमें हम विजयी हुए थे. ‘ऑपरेशन नमस्ते’ को भी हम सफल बनाएंगे. हम कोरोना वायरस से मुकाबला करने के लिए तैयार हैं. मुकुंद नरवणे ने बताया, ‘भारतीय सेना की आंतरिक खूबी है कि हम अपने सांगठनिक ढांचे और ट्रेनिंग की बदौलत तरह-तरह की आपातकालीन परिस्थितियों से उबल जाते हैं. हम कोविड-19 से निपटने में भी अपनी इसी क्षमता का इस्तेमाल करेंगे.’

उन्होंने आगे कहा कि जब भी देश पर और देशवासियों पर संकट आया. सेना ने आगे आकर मोर्च संभाला है. हर संकट से मुक्ति दिलाने में अहम भूमिका हमने निभाई है. अब देश पर कोरोना वायरस का महासंकट आया है. इस गंभीर चुनौती से निपटने के लिए ऑपरेशन नमस्ते छेड़ा गया है.

आर्मी चीफ ने आगे बताया, ‘ कोरोना के खिलाफ जंग में सरकार और प्रशासन की मदद करना हमारा दायित्व है. देश की रक्षा के लिए खुद को सेफ और फिट रखना जरूरी है. इसलिए हमने एडवाइजरी भी जारी की है. इसके साथ ही सेना की ओर से देशभर में अबतक 8 क्वारेंटाइन सेंटर्स स्थापित किए जा चुके हैं. जिसमें कोरोना पेशेंट को रखा जाएगा. इसके साथ ही सेना की ओर से हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया गया है. इसके जरिए कोरोना की चपेट में आए लोगों की मदद की जाएगी. लोगों को इस संकट से जुड़ी जानकारी दी जाएगी.

मालूम हो कि कोरोना वायरस का प्रकोप देश में बढ़ता जा रहा है और अब तक 700 के करीब लोग इसकी चपेट में आ चुके हैं जबकि 18 लोगों की मृत्यु हो चुकी है. वहीं दुनिया में भी 21000 से ज्यादा लोग इसकी वजह से अपनी जान गंवा चुके हैं.

कोरोना के प्रकोप के बीच लोगों के अनुरोध पर अब दूरदर्शन दिखाएगा ‘रामायण’