Gujarat Exclusive > राजनीति > दिग्विजय के बाद अमित शाह की टिप्पणी पर प्रियंका का पलटवार, कहा- यह भगवान राम का अपमान

दिग्विजय के बाद अमित शाह की टिप्पणी पर प्रियंका का पलटवार, कहा- यह भगवान राम का अपमान

0
95

देश में बढ़ती महंगाई और बेरोजगारी के खिलाफ कांग्रेस के देशव्यापी आंदोलन को केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने अयोध्या में बन रहे राम मंदिर से जोड़ दिया है. शाह पर आरोपों पर कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह के बाद अब पार्टी की महासचिव प्रियंका गांधी ने भी पलटवार किया है. उन्होंने कहा कि जो महंगाई के विरुद्ध आंदोलन करने वालों को मिथ्या वचन कहता है वह लोकनायक राम और भारत के जन का अपमान करता है.

प्रियंका गांधी ने अमित शाह के बयान पर निशाना साधते हुए राम चरित मानस की एक चौपाई का जिक्र करते हुए लिखा “भये प्रकट कृपाला दीन दयाला, कौशिल्या हितकारी, हर्षित महतारी, मुनि मन हारी, अद्भुत रूप निहारी, करुणा सुख सागर, सब गुन आगर, जेहि गावहिं श्रुति संता, सो मम हित लागी, जन अनुरागी, प्रकट भये श्रीकंता, देशभर के गरीबों और मध्य वर्ग के ऊपर पड़ रही महँगाई की मार के खिलाफ लड़ना,

प्रियंका गांधी ने एक अन्य ट्वीट में लिखा “जन अनुरागी भगवान राम का दिखाया रास्ता है. जो महँगाई बढ़ाकर दुर्बल जन को कष्ट देता है वह भगवान राम पर वार करता है. जो महंगाई के विरुद्ध आंदोलन करने वालों को मिथ्या वचन कहता है वह लोकनायक राम और भारत के जन का अपमान करता है.

गौरतलब है कि कल देशव्यापी आंदोलन के दौरान पुलिस ने प्रियंका गांधी समेत कांग्रेस के कई नेताओं और सांसदों को हिरासत में ले लिया था. उस दौराना प्रियंका ने कहा था कि आटा दूध दही पर भी टैक्स वसूलने वाली क्रूर सरकार कह रही है कि महंगाई नहीं है. अगर महंगाई नहीं है तो गैस सिलेंडर देखकर BJP को इतना डर क्यों लग रहा है? हमें गिरफ्तार करके जनता से ये सच कैसे छुपाओगे कि 2014 में जो सिलेंडर 410 का था उसे 1100 रु करने वाली लूट को ही महंगाई कहते हैं.

लम्पी वायरस के प्रकोप के बीच क्या इंसान पी सकते हैं गाय का दूध? जानिए डॉक्टरों की राय