Gujarat Exclusive > देश-विदेश > मेरठ में घुसने से पहले प्रियंका-राहुल को पुलिस ने रोका, पीड़ित परिवार से की फोन पर बातचीत

मेरठ में घुसने से पहले प्रियंका-राहुल को पुलिस ने रोका, पीड़ित परिवार से की फोन पर बातचीत

0
279

नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ हो रहे प्रदर्शनों में मारे गए लोगों के परिजनों से मिलने मेरठ जा रहे कांग्रेस नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को पुलिस ने शहर के बाहर ही रोक लिया. कांग्रेस नेताओं ने पुलिस से कहा कि वे केवल तीन लोग ही जाएंगे, लेकिन फिर भी पुलिस ने उन्हें शहर में नहीं जाने दिया. उन्हें मेरठ से बाहर प्रतापपुर में रोक दिया गया. पुलिस ने उनसे कहा कि आप दो दिन के बाद आएं. जिसके बाद दोनों नेताओं ने पीड़ित परिवार के कुछ लोगों से फोन पर बातचीत कर उनको संतावना दिया

नागरिकता संशोधन एक्ट (CAA) के विरोध में हुए प्रदर्शन के दौरान पश्चिमी उत्तर प्रदेश के मेरठ में हिंसा हुई थी. इस दौरान कुछ प्रदर्शनकारियों की मौत भी हो गई थी. कांग्रेस नेता राहुल गांधी और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा अब हिंसा में मारे गए प्रदर्शनकारियों के परिजनों से मुलाकात करने मेरठ जा रहे थे, लेकिन यूपी पुलिस ने उन्हें बॉर्डर पर ही रोक लिया. धारा 144 का हवाला देकर प्रशासन ने दोनों को वापस भेज दिया, जिसके बाद वह परतापुर से ही वापस आ गए.

बीते शुक्रवार को जुमे की नमाज़ के बाद मेरठ में प्रदर्शनकारियों ने हिंसक प्रदर्शन किया था, यहां पुलिस पर पत्थरबाजी की थी. पुलिस ने बचाव में आंसू गैस के गोले छोड़े थे. इसी हिंसा में चार प्रदर्शनकारियों की मौत हो गई थी. विरोध प्रदर्शन के बाद से ही मेरठ, मुजफ्फरनगर, बुलंदशहर और सहारनपुर में इंटरनेट बंद है. और पूरे शहर में धारा 144 लागू कर दिया गया है.