Gujarat Exclusive > गुजरात > JEE-NEET परीक्षा के खिलाफ विरोध प्रदर्शन, पुलिस की हिरासत में अमित चावड़ा

JEE-NEET परीक्षा के खिलाफ विरोध प्रदर्शन, पुलिस की हिरासत में अमित चावड़ा

0
327
  • कांग्रेस ने गुजरात के सभी जिलों में JEE-NEET के खिलाफ विरोध प्रदर्शन
    गुजरात में NEET के 80,000 छात्र और JEE के 37,000 छात्र देंगे परीक्षा

अहमदाबाद: कोरोना आपदा के बीच जेईई-नीट परीक्षा आयोजित कराने के अपने फैसले पर अडिग है. वहीं कांग्रेस सहित विपक्षी दल केंद्र सरकार के फैसले के खिलाफ नजर आ रही हैं.

बीते दिनों इस मामले को लेकर विपक्षी दलों ने एकमत होकर फिलहाल परीक्षा को रद्द करने पर सहमति जताई थी.

लेकिन इस बीच केंद्र के इस फैसले के खिलाफ कांग्रेस रास्ते पर उतरकर विरोध प्रदर्शन कर रही है.

पूरे गुजरात में कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने किया विरोध प्रदर्शन

JEE-NEET परीक्षा को लेकर अहमदाबाद में गुजरात विश्वविद्यालय के पास कांग्रेस द्वारा विरोध प्रदर्शन किया गया.

विरोध प्रदर्शन कर रहे गुजरात कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अमित चावड़ा सहित कार्यकर्ताओं को मौके पर पहुंची पुलिस ने हिरासत में लिया.

अहमदाबाद के अलावा, JEE-NEET परीक्षा को लेकर वड़ोदरा और राजकोट में भी कांग्रेस की ओर से विरोध प्रदर्शन किया गया.

वडोदरा में एसटी बस को रोककर विरोध प्रदर्शन किया गया. जिसकी वजह से कांग्रेसी कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हिरासत में ले लिया.

यह भी पढ़ें: मौत के बाद भी चैन नहीं, मृत्यु प्रमाण पत्र देने में कोविड अस्पतालों की धांधली

पुलिस की हिरासत में कांग्रेसी कार्यकर्ता

वडोदरा में कांग्रेस और उसकी युवा शाखा एनएसयूआई द्वारा विरोध प्रदर्शन किया गया. इस विरोध प्रदर्शन में वडोदरा शहर और जिला के कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने बड़ी संख्या में हिस्सा लिया.

विरोध करने वाले प्रदर्शनकारियों ने कोरोनाकाल में जेईई-नीट परीक्षा को स्थगित करने की मांग किया.

कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने पुलिस पर लगाया गंभीर आरोप

इसके अलावा प्रदर्शनकारी महिला कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने रावपुरा पुलिस स्टेशन के पीएसआई अजय जाधव पर एक महिला के सीने को छूने का गंभीर आरोप लगाया है.

कांग्रेसी कार्यकर्ता पीएसआई को सस्पेंड करने की मांग कर रही हैं. लेकिन पीएसआई कांग्रेसी कार्यकर्ताओं के इस आरोप से इनकार कर रहे हैं.

राजकोट में जिला कलेक्टर दफ्तर के बाहर भी कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने JEE-NEET परीक्षा को रद्द करने की मांग को लेकर जमकर हंगामा किया.

इतना ही नहीं सरकार के खिलाफ जमकर कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने नारेबाजी की.

कुछ ऐसा ही विरोध प्रदर्शन सूरत में भी कांग्रेसी कार्यकर्ताओं की ओर से किया गया.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

सी.आर. पाटिल का बड़ा फैसला, 38 नेताओं को एक साथ किया सस्पेंड