Gujarat Exclusive > राजनीति > मायावती के बाद प्रियंका गांधी ने हाथरस DM की भूमिका पर खड़ा किया सवाल, कार्रवाई की मांग

मायावती के बाद प्रियंका गांधी ने हाथरस DM की भूमिका पर खड़ा किया सवाल, कार्रवाई की मांग

0
326
  • हाथरस डीएम की भूमिका पर मायवती के बाद प्रियंका गांधी ने खड़ा किया सवाल
    प्रियंका ने कहा DM प्रवीण कुमार को सस्पेंड कब किया जाएगा
    परिवार न्यायिक जांच कर रही है मांग लेकिन सरकार CBI से करवा रही है जांच

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने हाथरस गैंगरेप मामले की सीबीआई से जांच कराने का निर्देश दे दिया है. मामले की जांच की निष्पक्षता को लेकर राज्य की पूर्व मुख्यमंत्री और बसपा सुप्रीमो मायावती ने सवाल खड़ा किया है.

उन्होंने स्थानिक डीएम पर कई गंभीर आरोप लगाया है. ऐसे में अब जानकारी सामने आ रही है कि कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने योगी सरकार से सवाल किया है कि DM प्रवीण कुमार को सस्पेंड कब किया जाएगा.

प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर बोला हमला

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने ट्वीट करते हुए योगी सरकार से सवाल किया “हाथरस के पीड़ित परिवार के अनुसार सबसे बुरा बर्ताव डीएम का था.

उन्हें कौन बचा रहा है? उन्हें अविलंब बर्खास्त कर पूरे मामले में उनके रोल की जाँच हो. परिवार न्यायिक जांच माँग रहा है तब क्यों सीबीआई जांच का हल्ला करके SIT की जांच जारी है.”

 

यह भी पढ़ें: अमेरिका को महान बनाने के लिए मुझे फिर से आना होगा: राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप

मायावती भी डीएम की भूमिका पर खड़ा कर चुकी हैं सवाल

इतना ही नहीं उन्होंने एक अन्य ट्वीट में लिखा”यूपी सरकार यदि जरा भी नींद से जागी है तो उसे परिवार की बात सुननी चाहिए.”

इससे पहले बसपा सुप्रिमो मायावती ने ट्वीट कर लिखा ”हाथरस गैंगरेप काण्ड के पीड़ित परिवार ने जिले के डीएम पर धमकाने आदि के कई गंभीर आरोप लगाए हैं.

फिर भी यूपी सरकार की रहस्मय चुप्पी दुःखद व अति-चिन्ताजनक. हालांकि सरकार सीबीआइ जांच हेतु राजी हुई ह. किन्तु उस डीएम के वहां रहते इस मामले की निष्पक्ष जांच कैसे हो सकती है? लोग आशंकित”

गौरतलब है कि हाथरस गैंगरेप मामले में पहले ही पुलिस की भूमिका पर सवाल खड़ा हो चुका है. इस बीच हाथरस डीएम प्रवीण कुमार पर पीड़ित परिवार ने आरोप लगाया था कि डीएम ने परिजन को डराया और धमकाया था.

पीड़िता के भाई ने डीएम पर आरोप लगाता हुए कहा कि था हमारे परिवार की महिलाओं के साथ उन्होंने बदसलूकी का भी आरोप लगाया था.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

हाथरस गैंगरेप: CBI जांच से पहले मायावती ने जांच की निष्पक्षता पर उठाया सवाल