Gujarat Exclusive > राजनीति > कृषि बिल का पूरे देश में जारी है विरोध, राहुल गांधी ने कहा भारत में मर चुका है लोकतंत्र

कृषि बिल का पूरे देश में जारी है विरोध, राहुल गांधी ने कहा भारत में मर चुका है लोकतंत्र

0
506
  • कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने केंद्र सरकार पर बोला हमला
  • कृषि बिल को किसानों के मौत का फरमान करार दिया
  • कहा- संसद के अंदर और बाहर किसानों की आवाज को दबाया गया
  • राहुल गांधी ने कहा भारत में मर चुका है लोकतंत्र

कृषि बिल का पूरे देश में विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है. राष्ट्रपति के मंजूरी की मुहर के बाद अब यह कानून बन गया है. इस बीच विपक्ष लगातार केंद्र सरकार पर हमला बोल रही है.

पंजाब-हरियाणा सहित देश के अन्य हिस्सों में किसान सड़कों पर उतर चुके हैं. राष्ट्रपति की मंजूरी के बाद देश में विरोध प्रदर्शन तेज हो गया है.

इस बीच कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने बड़ा हमला बोला है. उन्होंने कहा कि भारत में लोकतंत्र मर चुका है.

ट्वीट कर राहुल गांधी ने बोला हमला

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर जोरदार हमला बोलते हुए कहा कि “नया कृषि कानून किसानों के लिए मौत का फरमान है.

ट्वीट में उन्होंने लिखा संसद और संसद के बाहर किसानों की आवाज को दबाया जा रहा है. ये सबूत है कि देश में लोकतंत्र मर चुका है.”

यह भी पढ़ें: श्रम विधेयक पर राहुल गांधी का तंज, किसानों के बाद मजदूरों पर वार

 

उन्होंने अपने इस ट्वीट के साथ एक मीडिया रिपोर्ट साझा किया है जिसमें दावा किया गया है कि विपक्ष के द्वारा सीट पर खड़े होकर कृषि बिल को डिविजन के पास भेजे जाने की मांग किए जाने के बाद भी उपसभापति ने ध्वनि मत से कृषि बिल को पास करवा दिया.

हांलकि इस आरोप के बाद उपसभापति हरिवंश ने सफाई भी पेशी की थी.

इससे पहले भी कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी बोल चुके हैं हमला

कृषि से जुड़े विधेयकों को विपक्ष किसान विरोधी बता रहा है. इस मामले को लेकर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर लिखा “2014- मोदी जी का चुनावी वादा किसानों को स्वामीनाथन कमिशन वाला MSP.

2015- मोदी सरकार ने कोर्ट में कहा कि उनसे ये न हो पाएगा. 2020- काले किसान क़ानून. मोदी जी की नीयत ‘साफ़’.कृषि-विरोधी नया प्रयास. किसानों को करके जड़ से साफ़. पूँजीपति ‘मित्रों’ का ख़ूब विकास.”

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

शहीद-ए-आजम भगत सिंह के गांव में कृषि बिल के खिलाफ धरना पर बैठे पंजाब सीएम