Gujarat Exclusive > राजनीति > उद्योगपतियों का अरबों रुपया कर्ज माफ, मोदी जी के विकास की यह है असलियत: राहुल गांधी

उद्योगपतियों का अरबों रुपया कर्ज माफ, मोदी जी के विकास की यह है असलियत: राहुल गांधी

0
304

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के विदेश यात्रा पर बीते दिनों भाजपा के कई नेताओं ने जमकर हमला किया था. ऐसे में अब राहुल गांधी ने एक बार फिर से मोदी सरकार के विकास नीति पर सवाल खड़ा करते हुए निशाना साधा है.

इतना ही नहीं राहुल गांधी ने आरोप लगाते हुए कहा कि मोदी सरकार ने खरबों खरब रुपया कुछ उद्योगपतियों का माफ कर दिया. अगर सरकार चाहती तो इतने रुपया से 11 करोड़ लोगों को मदद की जा सकती थी.

मोदी सरकार पर राहुल गांधी ने उद्योगपतियों का कर्ज माफ करने का लगाया आरोप  Rahul Gandhi Modi government charge

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर लिखा” 2378760000000 रुपय का क़र्ज़ इस साल मोदी सरकार ने कुछ उद्योगपतियों का माफ़ किया. Rahul Gandhi Modi government charge

इस राशि से कोविड के मुश्किल समय में 11 करोड़ परिवारों को 20-20 हज़ार रुपय दिए जा सकते थे. मोदी जी के विकास की असलियत!”

 

इससे पहले भी तालाबंदी के दौरान आर्थिक मदद की कर चुके हैं मांग  Rahul Gandhi Modi government charge

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और वायनाड से सांसद राहुल गांधी मोदी सरकार से इससे पहले भी मांग कर चुके हैं कि कोरोना महामारी की वजह से आर्थिक रूप से परेशान लोगों की मदद के लिए आगे आना चाहिए.

राहुल तालाबंदी के दौरान भी कुछ इसी तरीके की मांग करते हुए कहा था कि सरकार को कम से कम दस हजार रुपये की आर्थिक मदद देनी चाहिए.

राहुल गांधी के इस मांग को नोबेल पुरस्कार विजेता अभिजीत बनर्जी भी जायज ठहरा चुके हैं. Rahul Gandhi Modi government charge

प्रवासी मजदूरों की मौत पर राहुल गांधी का तंज Rahul Gandhi Modi government charge

मानसून सत्र के पहले दिन लोकसभा में सवाल किया गया कि सरकार को यह मालूम है कि प्रवासी मजदूरों को घर लौटते हुए मौत हुई थी. क्या राज्यवार मृतकों की संख्या का लिस्ट सरकार के पास मौजूद है?

क्या पीड़ितों को सरकार ने कोई मुआवजा या आर्थिक सहायता दी? इस सवाल के जवाब में केंद्रीय श्रम और रोजगार मंत्रालय ने कहा कि इसका कोई भी डेटा सरकार के पास उपलब्ध नहीं है.

इस मामले पर राहुल गांधी ने ट्वीट कर मोदी सरकार पर तंज कसा था. राहुल गांधी ने शायराना अंदाज में ट्वीट कर लिखा था Rahul Gandhi Modi government charge

“मोदी सरकार नहीं जानती कि लॉकडाउन में कितने प्रवासी मज़दूर मरे और कितनी नौकरियाँ गयीं. तुमने ना गिना तो क्या मौत ना हुई?

हाँ मगर दुख है सरकार पे असर ना हुई, उनका मरना देखा ज़माने ने, एक मोदी सरकार है जिसे ख़बर ना हुई.”

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

केरल विधानसभा में पास हुआ तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ प्रस्ताव, बना दूसरा राज्य