Gujarat Exclusive > राजनीति > राहुल गांधी कविता ट्वीट कर पीएम मोदी पर बोला हमला, किसान और महंगाई को बनाया मुद्दा

राहुल गांधी कविता ट्वीट कर पीएम मोदी पर बोला हमला, किसान और महंगाई को बनाया मुद्दा

0
348

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी आज एक बार फिर किसान कानून और देश में बढ़ने वाली महंगाई के मुद्दे पर पीएम मोदी पर हमला बोला है. राहुल गांधी ने एक कविता ट्वीट कर पीएम मोदी पर तंज कसा है.

राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर पूंजीपति मित्रों के हाथों देश का बेड़ा पार कराने का आरोप लगाया है.

इससे पहले भी राहुल गांधी शायराना अंदाज में ट्वीट कर केंद्र की मोदी सरकार पर हमला बोल चुके हैं.

राहुल ने कविता ट्वीट कर बोला हमला

तालाबंदी के बाद से जहां भारतीय अर्थव्यवस्था अपने सबसे बुरे दौर से गुजर रही है. देश में महंगाई का आलम यह कि हर जीवन जरूरत की सामान सामान्य आदमी की पहुंच से दिन प्रतिदिन दूर होती जा रही है.

इस बीच राहुल गांधी ने ट्वीट कर पीएम मोदी पर हमला बोला है. उन्होंने लिखा” आम जन पर लगातार होते वार. अब महँगाई भी हुई हद से पार. काले क़ानूनों से किसान लाचार.

छीना उनका सम्मान व अधिकार. हाथ पर हाथ धरे मोदी सरकार. करे सिर्फ़ पूँजीपति मित्रों का बेड़ा पार.

 

राहुल गांधी ने एक बार फिर से चीनी घुसपैठ को बनाया मुद्दा

राहुल गांधी ने चीनी घुसपैठ को मुद्दा बनाते हुए पीएम मोदी पर हमला बोला था उन्होंने कहा “PM चीन का नाम ​नहीं ले रहे हैं क्योंकि वो नहीं चाहते कि देश के लोगों का ध्यान इस पर जाए कि चीन ने हमारी ज़मीन पर कब्ज़ा कर लिया है.

चीन ने हमारी 1200 स्क्वायर किलोमीटर ज़मीन पर कब्ज़ा किया है. PM के पास भारत माता की ज़मीन पर कहने के लिए एक भी शब्द क्यों नहीं है.”

पीएम के समझ से बाहर हैं कृषि कानून- राहुल गांधी

बीते दिनों पंजाब के पटियाल ट्रैक्टर रैली का आयोजन कर कृषि बिल का विरोध करने वाले कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि पहले नोटबंदी लागू की गई उसके बाद जीएसटी और अब इस काले कानून को लागू किया गया है.

उन्होंने कहा कि हमारी ये यात्रा मोदी सरकार के तीनों काले कानूनों के खिलाफ है. इस कानून को लागू कर मौजूदा सिस्टम को खत्म करने की कोशिश की जा रही है.

उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि खुद पीएम मोदी को भी ये कृषि कानून समझ में नहीं आते हैं. आने वाले छह महीनों में देश में रोजगार नहीं होगा और ना ही भोजन की व्यवस्था होगी.

क्योंकि इस कानून की वजह से मौजूदा सिस्टम को खत्म करने की कोशिश की जा रही है. वह भी सिर्फ चंद लोगों को फायदा पहुंचाने के मकसद से.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पत्रकारों के खिलाफ लगे मुकदमें वापस लेने की पीएम मोदी से मांग