Gujarat Exclusive > राजनीति > मंदी के मुद्दे पर राहुल गांधी का वार, कहा- मोदी ने देश की ताकत को कमजोर बनाया

मंदी के मुद्दे पर राहुल गांधी का वार, कहा- मोदी ने देश की ताकत को कमजोर बनाया

0
254

कोरोना काल के दौरान लगातार मोदी सरकार की नीतियों के खिलाफ आवाज उठाने वाले कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने एकबार फिर मोदी सरकार पर देश आर्थिक मंदी को लेकर सवाल खड़े किए हैं. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने गुरुवार को ट्वीट कर कहा कि भारत इतिहास में पहली बार आर्थिक मंदी (Recession) की चपेट में आ गया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने देश की ताकत को कमजोरी में बदल दिया है.

 

मालूम हो कि रिजर्व बैंक (RBI) के अनुमानों के मुताबिक, वित्त वर्ष 2020-21 की दूसरी तिमाही (जुलाई-सितंबर) में आर्थिक विकास दर नकारात्मक रही है. जीडीपी दर दूसरी तिमाही में -8.6% सिकुड़ गई है.

यह भी पढ़ें: बिहार में महागठबंधन की हार पर मंथन शुरू, नीतीश 16 नवंबर को ले सकते हैं शपथ

पहले भी हमलावार रहे हैं राहुल

गौरतलब है कि कांग्रेस नेता (Rahul Gandhi) ने नोटबंदी के चार साल पूरे होने के मौके पर मोदी सरकार के इस फैसले को गरीबों पर चोट करने वाला और पूंजीपतियों को फायदा पहुंचाने वाला बताया था. उन्होंने कहा कि लॉकडाउन का निर्णय भी सही वक्त पर नहीं लिया गया. इस कारण बड़े पैमाने पर प्रवासियों का पलायन हुआ. साथ ही अर्थव्यवस्था को गहरी चोट पहुंची.

अध्यक्ष बनाने की तैयारी शुरू

उधर कांग्रेस (Rahul Gandhi) ने राहुल गांधी को अध्यक्ष बनाने की तैयारी शुरू कर दी है. जानकारी के मुताबिक, दिसंबर में अध्यक्ष पद के लिए चुनाव प्रक्रिया शुरू होगी. दिसंबर में ही कार्यसमिति की बैठक में राहुल के नाम पर प्रस्ताव पारित होगा. इसके बाद जनवरी में राष्ट्रीय अधिवेशन बुलाकर राहुल (Rahul Gandhi) के नाम पर मुहर लगेगी.

अधिवेशन में नई कार्यसमिति के 12 सदस्यों का भी चुनाव होगा, वहीं अन्य 12 सदस्य चुनने का अधिकार नए अध्यक्ष का होगा. पार्टी सूत्रों के मुताबिक, अध्यक्ष चुनाव को लेकर तैयारी चल रही है और इसे टाला नहीं जा सकता. वहीं, राहुल (Rahul Gandhi) समर्थक नेता भी आश्वस्त हैं कि बिहार व कई राज्यों में उपचुनाव के नतीजों को संगठन के नेतृत्व से नहीं जोड़ना चाहिए.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें