Gujarat Exclusive > राजनीति > राहुल गांधी बोले- सरकारी कर्मचारियों की हालत पस्त, पूंजीपति ‘मित्र’ मुनाफ़ा कमाने में मस्त

राहुल गांधी बोले- सरकारी कर्मचारियों की हालत पस्त, पूंजीपति ‘मित्र’ मुनाफ़ा कमाने में मस्त

0
278

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने महंगाई के मुद्दे पर एकबार फिर मोदी सरकार को घेरा है. राहुल (Rahul Gandhi) ने कहा कि एक ओर तो खाद्य पदार्थों की महंगाई दर 11.1 फीसदी पार पहुंच गई है, लेकिन सरकार कर्मचारियों (Central Government Employee) को कोई राहत नहीं दे रही है.

राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने ट्वीट किया, खाद्य पदार्थों में मुद्रास्फीति 11 फीसदी से ज्यादा हो गई है. लेकिन मोदी सरकार केंद्रीय सार्वजनिक उपक्रमों (PSU) के कर्मचारियों का महंगाई भत्ता (DA) बढ़ाने की बजाय फ्रीज कर रही है. एक और सरकारी कर्मचारियों की हालत पस्त और दूसरी ओर पूंजीपति ‘मित्र’ मुनाफ़ा कमाने में मस्त हैं.

 

यह भी पढ़ें: कोरोना: यूपी में फिर बढ़ा संक्रमण का आतंक, हरियाणा में 30 नवंबर तक स्कूल बंद

बता दें कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) इससे पहले कोरोना के बढ़ते मामलों, खराब आर्थिक हालत और नोटबंदी जैसे मुद्दों को लेकर सरकार को कठघरे में खड़ा कर चुके हैं.

मां संग गोवा पहुंचे राहुल

उधर राहुल गांधी (Rahul Gandhi) कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के साथ गोवा पहुंच चुके हैं. दरअसल डॉक्टरों ने सोनिया को दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण के चलते दिल्ली से दूर रहने की सलाह दी थी. सोनिया गांधी काफी समय से सीने से संबंधित बीमारी से परेशान हैं. अब दिल्ली में प्रदूषण खतरनाक स्थिति में पहुंच गया है. ऐसे में डॉक्टरों ने उन्हें दिल्ली की प्रदूषित हवा से दूर रहने की सलाह दी थी. इसी सलाह के अनुसार, अब वह कुछ दिनों के लिए गोवा में रहेंगी. उनके साथ उनके बेटे राहुल गांधी (Rahul Gandhi) भी गोवा गए हैं.

बीते अगस्त के महीने में सोनिया गांधी अस्पताल में भर्ती भी थीं. अस्पताल से छुट्टी मिलने के बाद वह डॉक्टरों की निगरानी में थीं. उनके सीने में लगातार संक्रमण के बने रहने से डॉक्टर काफी चिंतित थे. इसी वजह से उन्होंने सोनिया को दिल्ली की आबोहवा से दूर रहने को कहा था. दिल्ली में वायु प्रदूषण की मौजूदा स्थिति उनकी सेहत के लिए प्रतिकूल है.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें