Gujarat Exclusive > राजनीति > ‘मिस्टर मोदी को लगता है पूरी दुनिया उनकी तरह है, सच्चाई की कोई कीमत नहीं होती’

‘मिस्टर मोदी को लगता है पूरी दुनिया उनकी तरह है, सच्चाई की कोई कीमत नहीं होती’

0
475

विपक्ष और केंद्र सरकार के बीच एक बार फिर वाद-विवादों का दौर चरम पर है. विपक्ष लगातार मोदी सरकार पर उसके फैलों की वजह से हमला बोलता रहा है. इस बीच केंद्र सरकार ने राजीव गांधी फाउंडेशन सहित नेहरू-गांधी परिवार से संबंधित तीन ट्रस्ट की जांच के लिए एक अंतर-मंत्रालयी टीम गठित की है. इन ट्रस्टों पर धनशोधन और विदेशी चंदा सहित विभिन्न कानूनों के उल्लंघन का आरोप है. इसको लेकर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर हमला बोला है.

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा है कि पर डराने का आरोप लगाया है. राहुल ने ट्वीट कर कहा, “मिस्टर मोदी को लगता है कि सारी दुनिया उनके जैसी है. वो सोचते हैं कि हर किसी की कोई कीमत होती है या हर किसी को डराया जा सकता है. वो ये कभी नहीं समझेंगे कि जो सच्चाई के लिए लड़ते हैं उनकी कोई कीमत नहीं होती है और उन्हें डराया नहीं जा सकता है.”

 

दरअसल ये मामला कुछ दिन पहले से विवादों में आ गया है. बीजेपी ने कहा था कि राजीव गांधी फाउंडेशन को चीनी दूतावास से धन प्राप्त हुआ है. यह आरोप लद्दाख में भारतीय सेना और चीन की पीपुल्स लिब्रेशन आर्मी (पीएलए) के बीच गतिरोध के मध्य उठा था.

मालूम हो कि पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में होने वाली हिंसक झड़प और भारत-चीन सीमा पर जारी गतिरोध को लेकर कांग्रेस लगातार मोदी सरकार को सवालों के घेरे में खड़ा कर रही थी. इसके बाद भाजपा ने पलटवार करते हुए आरोप लगाया था कि यूपीए सरकार के कार्यकाल में 2005-2008 के बीच पीएम राहत कोष से राजीव गांधी फाउंडेशन को पैसा ट्रासंफर किया गया. इतना ही नहीं भाजपा ने ये भी आरोप लगाया था कि इसमें चीन ने भी फंड दिया था.

अब इस मामले को लेकर गृह मंत्रालय ने राजीव गांधी फाउंडेशन, राजीव गांधी चैरिटेबल ट्रस्ट और इंदिरा गांधी मेमोरियल ट्रस्ट में होने वाली आर्थिक अनियमितताओं के जांच के लिए अंतरमंत्रालय समिति का गठन करेगी जिसकी अध्यक्षता प्रवर्तन निदेशायल के स्पेशल डायरेक्टर करेंगे.

गांधी परिवार के तीन ट्रस्टों में होने वाली फंडिंग की होगी जांच, गृह मंत्रालय ने बनाई कमेटी