Gujarat Exclusive > राजनीति > राहुल और प्रियंका गांधी के दौरा से पहले, हाथरस में धारा-144 लागू

राहुल और प्रियंका गांधी के दौरा से पहले, हाथरस में धारा-144 लागू

0
208
  • हाथरस गैंगरेप पीड़िता के परिवार मुलाकात करेंगे राहुल और प्रियंका गांधी
  • इनके दौरे से पहले हाथरस जिला में लागू की गई धारा 144
  • सभी रास्तों पर की गई नाकेबंदी

कांग्रेस नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी आज हाथरस गैंगरेप पीड़िता के परिवार से मिलने हाथरस जाने वाले हैं. इस बीच जिला प्रशासन ने हाथरस में धारा 144 लागू कर दिया है.

जिला प्रशासन ने कहा कि कोरोना वायरस की वजह से जिले में धारा 144 लागू किया गया है.

हाथरस जिले के चंदपा थाना क्षेत्र स्थित एक गांव में 14 सिंतबर को गैंगरेप और बर्बरता का शिकार हुई 20 साल की पीड़िता की इलाज के दौरान मौत हो गई.

इस मामले को लेकर देश में सियासत भी तेज हो गई है.

राहुल गांधी और प्रियंका के दौरा से पहले हाथरस में धारा 144 लागू

दिल्ली के सफदरगंज अस्पताल में इलाज के दौरान पीड़िता की मौत हो गई थी. जिसके बाद उत्तर प्रदेश पुलिस पीड़िता के शव को देर रात उसके गांव लेकर पहुंची जहां ग्रामीणों ने इंसाफ की मांग को लेकर हंगामा कर दिया.

इस बीच पुलिस ने रात के अंधेरे में परिवार की मौजूदगी के बिना उसका अंतिम संस्कार कर दिया. मामला सामने आने के बाद पुलिस के इस हरकत पर सवाल उठ रहे हैं.

यह भी पढ़ें: SIT तो बन गई लेकिन क्या एसपी की होगी जांच, सवालों के घेरे में योगी की पुलिसिया कार्रवाई

हाथरस में होने वाले गैंगरेप की इस घटना को लेकर जहां एक तरफ विरोध तेज हो गया है. वहीं दूसरी तरफ इस मामले को लेकर सियासत भी तेज हो गई है.

सफाई कर्मचारियों ने जगह-जगह कचरे का ढेर लगा दिया है. जिसके बाद हाथरस बॉर्डर को सील कर पूरे जिले में धारा 144 लागू कर दी गई है.

उत्तर प्रदेश में बढ़ते महिलाओं के खिलाफ अपराध को लेकर कांग्रेस, बसपा और सपा योगी सरकार पर हमलावर हैं. बसपा सुप्रीमो मायावती मांग कर रही हैं कि राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू हो.

वहीं कांग्रेस इस मामले को लेकर योगी के साथ ही साथ योगी की पुलिस पर भी सवाल खड़ा कर रही है. राहुल गांधी ने आज ट्वीट कर लिखा

“UP के जंगलराज में बेटियों पर ज़ुल्म और सरकार की सीनाज़ोरी जारी है. कभी जीते-जी सम्मान नहीं दिया और अंतिम संस्कार की गरिमा भी छीन ली. भाजपा का नारा ‘बेटी बचाओ’ नहीं, ‘तथ्य छुपाओ, सत्ता बचाओ’ है.”

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

UP के बलरामपुर में हाथरस जैसी दरिंदगी, दलित छात्रा से गैंगरेप, पीड़िता की मौत