Gujarat Exclusive > राजनीति > राहुल का केंद्र पर हमला, कहा- जब जब देश भावुक हुआ फाइलें हुईं गायब

राहुल का केंद्र पर हमला, कहा- जब जब देश भावुक हुआ फाइलें हुईं गायब

0
779

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने पूर्वी लद्दाख में ‘चीनी घुसपैठ’ के उल्लेख वाली एक रिपोर्ट रक्षा मंत्रालय की वेबसाइट से हटाए जाने को लेकर शनिवार को केंद्र सरकार पर हमला बोला. राहुल ने आरोप लगाया कि यह कोई संयोग नहीं, बल्कि सरकार का लोकतंत्र विरोधी प्रयोग है.

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक बार फिर मोदी सरकार पर हमला बोला है.
उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘जब जब देश भावुक हुआ, फ़ाइलें ग़ायब हुईं. माल्या हो या राफ़ेल, नीरव मोदी या चौकसी… गुमशुदा लिस्ट में ताजा हैं चीनी अतिक्रमण वाले दस्तावेज़. ये संयोग नहीं, मोदी सरकार का लोकतंत्र-विरोधी प्रयोग है.”

 

चीन के मुद्दे पर राहुल गांधी लगातार सरकार से सवाल पूछते रहे हैं.
वायनाड से कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने अब चीन से जुड़े दस्तावेजों को लेकर मोदी सरकार पर हमला बोला है.

यह भी पढ़ें: गुजरात में 70 हजार के करीब पहुंची कोरोना संक्रमितों की संख्या

क्या है मामला

दरअसल, हाल ही में रक्षा मंत्रालय के दस्तावेज को लेकर काफी विवाद देखने को मिल रहा है. विवाद के कारण इस दस्तावेज को मंत्रालय की वेबसाइट से हटा लिया गया. इससे पहले राहुल गांधी ने कहा था कि भूल जाएं कि हम चीन के सामने खड़े हो सकते हैं.
प्रधानमंत्री मोदी में इतनी हिम्मत नहीं है कि वो चीन का नाम तक ले पाएं.
चीन के अतिक्रमण की बात कबूलने वाले दस्तावेज को रक्षा मंत्रालय की वेबसाइट से हटाया गया.

रक्षा मंत्रालय ने हटाई थी जानकारी

भारतीय रक्षा मंत्रालय ने पहली बार चीनी घुसपैठ को अतिक्रमण के रूप में स्वीकार था.
इसके साथ उसने आधिकारिक रूप से जानकारी अपनी वेबसाइट पर डाली थी.

गौरतलब है कि रक्षा मंत्रालय ने अपनी वेबसाइट पर अपलोड उस दस्तावेज को गुरुवार को हटा लिया जिस पर आधारित एक खबर अखबार में प्रकाशित हुई.
हालांकि राजनीतिक स्तर पर विवाद बढ़ने के बाद इन दस्तावेजों को वेबसाइट से हटा लिया गया.

खबर के मुताबिक, जून महीने की इस रिपोर्ट में कहा गया है कि चीनी सैनिकों की एकतरफा आक्रामकता से पैदा हुए हालात संवेदनशील बने हुए हैं तथा यह गतिरोध लंबा चल सकता है.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें