Gujarat Exclusive > देश-विदेश > राज ठाकरे का भाषण समाज को बांटने और नफरत फैलाने का एक प्रयास है: महाराष्ट्र गृह मंत्री

राज ठाकरे का भाषण समाज को बांटने और नफरत फैलाने का एक प्रयास है: महाराष्ट्र गृह मंत्री

0
117

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना प्रमुख राज ठाकरे ने कल महाराष्ट्र दिवस पर औरंगाबाद में एक मेगा रैली को संबोधित किया. पुलिस ने राज ठाकरे को 16 शर्तों के साथ औरंगाबाद में रैली की अनुमति दी थी. उन शर्तों का उल्लंघन किया गया है जिसकी वजह से पुलिस राज ठाकरे पर कार्रवाई कर सकती है. महाराष्ट्र के गृह मंत्री ने राज ठाकरे के भाषण को नफरत फैलाने वाला करार देते हुए उनके खिलाफ कार्रवाई का भी संकेत दिया है.

महाराष्ट्र के गृह मंत्री दिलीप वलसे पाटिल ने कहा कि औरंगाबाद में महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना प्रमुख राज ठाकरे के भाषण का उद्देश्य समाज में फूट डालना था. रैली को संबोधित करते हुए ठाकरे ने एनसीपी मुखिया पर जातिगत राजनीति करने का आरोप लगाते हुए कहा था कि उनको हिंदू शब्द से एलर्जी है.

औरंगाबाद में राज ठाकरे के भाषण पर महाराष्ट्र सरकार में मंत्री दिलीप वालसे पाटिल ने कहा कि कुछ शर्तों के साथ उन्हें अनुमति दी गई थी, भाषण दिया गया है. इस भाषण में उन्होंने क्या-क्या उल्लंघन किया है, इसके बारे में औरंगाबाद के पुलिस आयुक्त देख रहे हैं. रिपोर्ट मुंबई डीजी को भेजी जाएगी.

दिलीप वालसे पाटिल की अपील

महाराष्ट्र के गृह मंत्री दिलीप वालसे पाटिल ने इससे पहले कहा था कि पुलिस सतर्क है कि कोई भी गड़बड़ी ना हो, रैली की अनुमति कुछ शर्तों के साथ दी गई है, लोगों से उम्मीद है कि वे सभी शर्तों का पालन करेंगे, अभी दो दिन बाद ईद है तो मेरी हिंदू और मुस्लिम भाईयों से अपील है कि शांति बनाने में आप सब सहयोग करें.

चंदौली: यूपी पुलिस पर लगा हिस्ट्रीशीटर की बेटी को पीटकर जान से मारने का आरोप