Gujarat Exclusive > गुजरात > राजकोट में अब सर्दी- बुखार और खांसी की दवा लेने वालों का होगा कोरोना टेस्ट

राजकोट में अब सर्दी- बुखार और खांसी की दवा लेने वालों का होगा कोरोना टेस्ट

0
339
  • कोरोना पर काबू पाने के लिए राजकोट नगर निगम का फैसला
  • मेडिकल स्टोर से बुखार-सर्दी की दवा लेने वालों का होगा कोरोना टेस्ट
  • मनपा जल्द ही बनाएगी एक नया सॉफ्टवेयर

राजकोट: घातक कोरोना वायरस ने गुजरात सहित पूरे देश में कोहराम मचा रखा है. राजकोट में भी पिछले कुछ दिनों से कोरोना संक्रमितों की संख्या लगातार बढ़ता जा रहा है.

कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए प्रशासन द्वारा किए गए तमाम उपायों के बावजूद संक्रमित लोगों की संख्या में खतरनाक रूप से वृद्धि दर्ज की जा रही है.

जिसकी वजह से अब राजकोट नगर निगम ने माइक्रो प्लानिंग की है.

कोरोना पर अंकुश लगाने के लिए लिया गया फैसला

बढ़ते कोरोना मामले पर अंकुश लगाने के लिए स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों सहित अहमदाबाद के विशेषज्ञ डॉक्टरों की टीम राजकोट में डेरा डाले हुए है.

इसके अलावा प्रशासन ने अब कोरोना वायरस के लक्षण वाले लोगों की पहचान करने के लिए मेडिकल स्टोर के मालिकों की मदद लेने का फैसला किया है.

राजकोट में, बुखार, सर्दी और खांसी सहित दवाएं डॉक्टर के पर्चे के बिना बेची जाती हैं. इसलिए इन बीमारियों से पीड़ित लोगों का कोरोना टेस्ट कराने का फैसला किया है.

राजकोट नगर निगम के आयुक्त ने दी जानकारी

इस सिलसिले में जानकारी देते हुए राजकोट मनपा आयुक्त उदित अग्रवाल ने कहा कि मेडिकल स्टोर के मालिकों को अब बिना डॉक्टर के पर्चे के सर्दी-बुखार की दवा लेने वाले लोगों का नाम और पता सहित विवरण रखना होगा.

यह भी पढ़ें: गुजरात: कोरोना की चपेट में दो अन्य विधायक, 20 से ज्यादा हो चुके हैं संक्रमित

राजकोट नगर निगम जल्द ही इसके लिए एक नया सॉफ्टवेयर बनाएगा. जिसमें ऐसे रोगियों के नाम, पता और संपर्क नंबर सहित विवरण को रखा जाएगा.

राजकोट मनपा आयुक्त ने कहा कि ऐसा करने का मुख्य उद्देश्य है कि जिन लोगों में सर्दी और बुखार के लक्षण दिख रहे हैं.

वह कोरोना का शिकार ना बने उससे पहले ही उनका उचित उपचार कर दिया जाए. उन्होंने कहा कि इस पहल से कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने में काफी हद तक हमें सफलता मिलेगी.

उल्लेखनीय है कि राजकोट म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन द्वारा पिछले महीने एक ऑडियो गीत “लड़ेगा राजकोट, जीतेगा राजकोट” लॉन्च किया गया था.

इसके साथ ही धनवंतरी रथ, संजीवनी रथ और आज 104 विशेष सेवा रथों का संचालन किया गया.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

गुजरात NEP 2020 लागू करने वाला पहला राज्य बनेगा: रुपाणी