Gujarat Exclusive > गुजरात > कृषि सहायता पैकेज को मजाक बताकर किसानों ने राजकोट जिला में दोबारा सर्वे की मांग

कृषि सहायता पैकेज को मजाक बताकर किसानों ने राजकोट जिला में दोबारा सर्वे की मांग

0
249

गांधीनगर: गुजरात में बीते दिनों होने वाली भारी बारिश के बाद बाढ़ प्रभावित किसानों के लिए 546 करोड़ रुपए के राहत पैकेज की घोषणा कर दी है. सरकार ने कृषि सहायता के रूप में 13,000 रुपये प्रति हेक्टेयर देने का ऐलान किया है. लेकिन अब गुजरात के राजकोट में सरकार के इस फैसले के बाद भी किसानों में नाराजगी दिखाई दे रही है.

राजकोट जिले के 156 गांवों में किया गया सर्वेक्षण अपर्याप्त होने की शिकायत मिलने के बाद जिला पंचायत अध्यक्ष ने दोबार सर्वे की मांग की है. धोराजी, जेतपुर, वीरपुर और पिठड़िया सहित गांवों के किसान सरकार द्वारा जारी राहत पैकेज को मजाज करार देते हुए फिर से सर्वे कराने की मांग की है.

राजकोट जिले के कुछ गांवों का सर्वे भी नहीं होने की शिकायत मिलने के बाद पंचायत अध्यक्ष भूपतभाई बोदरे ने सरकार से अपील की है कि किसानों को न्याय देने के लिए फिर से सर्व की मांग की है. गौरतलब है कि कृषि मंत्री और मुख्यमंत्री ने कहा है कि किसानों को जल्द से जल्द राहत दी जाएगी.

गुजरात में बीते दिनों होने वाली भारी बारिश के बाद बाढ़ प्रभावित किसानों के लिए 546 करोड़ रुपए के राहत पैकेज की घोषणा कर दी है. इसका लाभ सौराष्ट्र क्षेत्र के चार जिलों के किसानों को मिलेगा. फसल नुकसान का सर्वे करने के बाद सरकार ने राहत पैकेज की घोषणा की है.

गुजरात के वलसाड में फिर बढ़ा कोरोना का खतरा, एक्टिव मामलों की संख्या 50 के करीब