Gujarat Exclusive > गुजरात > राजकोट: बाढ़ प्रभावित ग्रामीणों के गुस्से का शिकार हुए भाजपा विधायक

राजकोट: बाढ़ प्रभावित ग्रामीणों के गुस्से का शिकार हुए भाजपा विधायक

0
339

राजकोट: कुछ दिनों पहले गुजरात के राजकोट जिले में हुई मूसलाधार बारिश के कारण जलजमाव हो गया था. भारी बारिश से जिले के कई गांवों से संपर्क टूट गया था. ग्रामीणों को निकालने में मदद के लिए एनडीआरएफ को बुलाया गया था. उसी दौरान गुजरात में बड़ा सियासी बदलाव हुआ था. जब गुजरात के लोग जिंदगी और मौत के बीच जूझ रहे थे तब गांधीनगर में शपथ ग्रहण का समारोह चल रहा था. इतना ही नहीं जनप्रतिनिध मंत्री बनने की लालच में अपने लोगों को छोड़कर गांधीनगर में डेरा जमाए हुए थे. अब जब सियासी तूफान शांत हुआ तो नेता बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा कर रहे हैं. राजकोट के एक गांव में भाजपा विधायक को स्थानिक लोगों की नाराजगी का शिकार होना पड़ा.

मिल रही जानकारी के अनुसार राजकोट ग्रामीण निर्वाचन क्षेत्र से विधायक चुने गए लाखाभाई सगठिया ने आज बाढ़ प्रभावित गांव नोधणचोरा का जायजा लेने पहुंचे थे. जहां ग्रामीणों ने विधायक को घेर लिया और जमकर फटकार लगाई.

ग्रामीणों का कहना है कि बारिश के बाद गांव की स्थिति खराब हो गई थी. उस समय विधायक समेत अन्य नेता गायब हो गए थे. बाढ़ के बाद मदद नहीं मिलने से ग्रामीण आक्रोशित हैं. इसलिए गांव का दौरा करने आए विधायक को घेर लिया और सवाल किया कि बाढ़ के दौरान कहां गायब हो गए थे.

गौरतलब है कि बीते दिनों गुजरात के ज्यादातर जिलों में होने वाली भारी बारिश की वजह से बाढ़ की स्थिति पैदा हो गई थी. जिसकी वजह से हजारों मवेशियों की मौत हो चुकी है. ऐसे में विधानसभा क्षेत्र की जनता को भगवान के भरोसे छोड़कर भाजपा विधायक राजधानी गांधीनगर में मंत्री पद पाने के लिए रस्साकशी में लगे हुए थे. इसी वजह से लोग चुने हुए प्रतिनिधियों को फटकार लगा रहे हैं.

भरूच के विधायक दुष्यंत पटेल बने गुजरात विधानसभा का कार्यवाहक अध्यक्ष