Gujarat Exclusive > देश-विदेश > चीन से बातचीत का नहीं निकला कोई हल, रक्षा मंत्री बोले- जो हमें छेड़ेगा उसे छोड़ेंगे नहीं

चीन से बातचीत का नहीं निकला कोई हल, रक्षा मंत्री बोले- जो हमें छेड़ेगा उसे छोड़ेंगे नहीं

0
243

भारत और चीन के बीच सीमा विवाद को लेकर केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने कहा है कि दोनों देशों के बीच बातचीत से अब तक कोई हल नहीं निकला है. रक्षा मंत्री (Rajnath Singh) ने कहा कि चीन के साथ बातचीत का सिलसिला जारी है, जल्द ही सैन्य लेवल की एक और चर्चा होनी है. साथ ही राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने कहा है कि जो हमारी तरफ आंख उठाएगा, हम उसे नहीं छोड़ेंगे.

रक्षा मंत्री (Rajnath Singh) ने कहा कि अभी तक जो भी चर्चा हुई है उसका कोई नतीजा नहीं निकला है, अभी यथास्थिति बनी हुई है लेकिन वो भी सही नहीं है.

यह भी पढ़ें: देश में कोरोना संक्रमण की गति में उछाल, 24 घंटों में 20,550 नए मरीज मिले

राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने बुधवार को समाचार एजेंसी एएनआई से कहा,

एलएसी पर गतिरोध को हल करने के लिए चीन के साथ कूटनीतिक और सैन्य स्तर की वार्ता से कोई ‘सार्थक समाधान’ नहीं निकला है. हम सभी देशों के साथ शांतिपूर्ण संबंध बनाए रखना चाहते हैं.

2020 में सीमा पर हुए हिंसा पर राजनाथ सिंह से सवाल किया गया तो उन्होने कहा,

मैं इस पर कुछ प्रीइम्ट नहीं करना चाहता. लेकिन जो हमें छेड़ेगा उसे हम छोड़ेंगे नहीं.”

राजनाथ ने कहा कि अगर कोई देश विस्तारवाद की नीति अपनाता है, तो भारत के पास उतनी ताकत है कि वो उसे अपनी जमीन में रुकने से रोक सके.

राजनाथ बोले कि भारत-चीन में लंबे वक्त से सीमा को लेकर विवाद है, ऐसे में अच्छा होता ये पहले ही खत्म होते. अगर ये खत्म हो गया होता, तो आज की स्थिति नहीं होती. चीन सीमा की अपनी ओर लगातार इंफ्रास्ट्रक्चर बना रहा है, लेकिन भारत भी अपनी सेना और नागरिकों के लिए काम कर रहा है. हम किसी पर आक्रमण करने के लिए नहीं बल्कि अपनी सुविधा के लिए ऐसा कर रहे हैं.

किसान आंदोलन पर क्या बोले

कृषि कानून को लेकर लगातार कांग्रेस केंद्र सरकार को घेर रही है. ऐसे में राजनाथ सिंह ने पलटवार करते हुए कहा कि वो एक किसान परिवार में पैदा हुए हैं, ऐसे में वो राहुल गांधी से अधिक खेती के बारे में जानते हैं. कृषि कानूनों को किसानों की भलाई के लिए लाया गया है. किसान आंदोलन में शामिल किसानों पर खालिस्तानी समर्थक होने का आरोप लगने पर राजनाथ सिंह ने कहा कि किसानों पर इस तरह का आरोप नहीं लगना चाहिए. हम किसानों का सम्मान करते हैं, वो हमारे अन्नदाता हैं.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें