Gujarat Exclusive > देश-विदेश > चांद का हुआ दीदार, देशभर में कल से रमजान का पवित्र महीना शुरू, पीएम मोदी ने दी मुबारकबाद

चांद का हुआ दीदार, देशभर में कल से रमजान का पवित्र महीना शुरू, पीएम मोदी ने दी मुबारकबाद

0
1179

कोरोना संकट के बीच शुक्रवार को चांद देखा गया. इसके साथ ही मुसलमानों का रमजान का पवित्र महीना शनिवार से शुरू होने की औपचारिक घोषणा हो गई. रमजान शुरू होने की खबर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित तमाम नेताओं ने रमजान के पवित्र महीने की मुबारकबाद भी दी है. इस तरह से देशभर में मुस्लिम समुदाय के लोग शनिवार को अपना पहला रोजा रखेंगे.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रमजान का महीना शुरू होने पर ट्वीट कर बधाई देते हुए कहा, ‘रमजान मुबारक! मैं सभी की सुरक्षा, कल्याण और समृद्धि के लिए प्रार्थना करता हूं. यह पवित्र महीना अपने साथ दया, सद्भाव और करुणा की प्रचुरता लेकर आए. हम कोरोना के खिलाफ के खिलाफ चल रही इस लड़ाई में एक निर्णायक जीत हासिल करेंगे और एक स्वस्थ ग्रह बनाएंगे.’

वहीं कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और सांसद राहुल गांधी ने ट्वीट करते हुए कहा कि हर किसी को रमजान मुबारक. मैं रमजान के इस महीने में सभी के लिए शांति और अच्छे स्वास्थ्य की कामना करता हूं. इसके अलावा यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्लाह ने भी रमजान की मुबारकबाद दी है.

 

नमाज के लिए राज्य सरकारों ने दिए हैं निर्देश

कोरोना संकट के बीच मुस्लिम समुदाय को रोजा रखना और अपने-अपने घरों से ही नमाज पढ़नी होगी. देश के अल्पसंख्यक मंत्रालय से लेकर तमाम राज्य सरकारों ने रमजान को लेकर कई तरह के निर्देश जारी किए हैं. साथ ही मुस्लिम धर्मगुरुओं ने भी मुसलमानों से अपील की है कि कोरोना की वजह से एहतियात बरतें और घर से नमाज-रोजा करें. उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने निर्देश जारी किए हैं. प्रशासन ने धर्मगुरुओं, मौलवियों और मौलानाओं से संवाद स्थापित कर यह तय किया है सहरी और इफ्तार के समय किसी भी प्रकार की भीड़ इकट्ठी नहीं होनी चाहिए.

इसी तरह दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी साफ कह चुके हैं कि कोरोना महामारी के चलते रमजान में भी कोई ढील नहीं दी जा सकती है. हालांकि, मनीष सिसोदिया ने कहा कि अजान के लिए कोई पाबंदी नहीं है. लॉकडाउन में मस्जिदों में नमाज़ के लिए इकट्ठा होने या किसी अन्य धार्मिक स्थल पर पूजा आदि के लिए लोगों के इकट्ठा होने पर पूरी तरह पाबंदी रहेगी.

गुजरात में कोरोना मरीजों की संख्या 2800 के पार, अहमदाबाद बना संक्रमण का केंद्र