Gujarat Exclusive > राजनीति > पंचतत्व में विलीन हुए रामविलास पासवान, मुखाग्नि देते वक्त गश खाकर गिरे चिराग

पंचतत्व में विलीन हुए रामविलास पासवान, मुखाग्नि देते वक्त गश खाकर गिरे चिराग

0
450

केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान (Ramvilas Paswan) पंचतत्व में विलीन हो गए. उनका पटना के जर्नादन घाट पर अंतिम संस्कार किया गया. इस दौरान बेटे चिराग पासवान (Chirag Paswan) ने पिता को मुखाग्नि दी. पिता को मुखाग्नि देने के दौरान चिराग बेहोश होकर गिर पड़े.

पटना के गंगा घाट पर पिता के शोक में गमगीन चिराग कभी खुद को संभालते तो कभी मां के आंसू पोछते नजर आए. जैसे ही चिराग ने पिता रामविलास (Ramvilas Paswan) को मुखाग्नि दी की वैसे हीं वे गश खाकर गिर पड़े. इस दौरान चिराग के चचेरे भाइयों और मौजूद लोगों ने चिराग को संभाला.

यह भी पढ़ें: गुजरात: संपत्ति विवाद के कारण बेटे ने डंडे से पीट-पीटकर ली पिता की जान

हजारों की संख्या में जुटी भीड़

इससे पहले रामविलास पासवान (Ramvilas Paswan) को दीघा घाट पर अंतिम विदाई देने के लिए हजारों की संख्या में समर्थक जुटे. सुरक्षा के दृष्टिकोण से और भीड़ को नियंत्रित करने के लिए बैरिकेडिंग किया गया था, लेकिन लोग अपने नेता के अंतिम दर्शन करना चाहते थे करीब से देखना चाहते थे.

इस मौके पर पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने भी दीघा घाट पहुंचकर दिवंगत नेता को अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की. वहीं अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद, सीएम नीतीश कुमार, डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी,केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह, केन्द्रीय मंत्री नित्यानंद राय,केन्द्रीय मंत्री अश्विनी कुमार चौबे, तेजस्वी यादव, मंत्री मंगल पांडेय, सांसद रामकृपाल यादव, महेश्वर हजारी समेत तमाम दलों के नेता मौजूद रहे. इस दौरान सेना के जवान ने गार्ड ऑफ ऑनर दिया.

गुरुवार को हुआ था निधन

मालूम हो कि गुरुवार शाम को लंबी बीमारी के बाद रामविलास पासवान (Ramvilas Paswan) का निधन हो गया था. 74 साल के रामविलास पासवान (Ramvilas Paswan) कई दिनों से अस्पताल में भर्ती थे. उनका पार्थिव शरीर शुक्रवार शाम पांच बजे दिल्ली से पटना पहुंचा. एयरपोर्ट पर रामविलास पासवान के अंतिम दर्शनों के लिए समर्थकों की भारी भीड़ देखी गई थी.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें