Gujarat Exclusive > देश-विदेश > टीआरपी में हेरफेर: मुंबई पुलिस का बड़ा दावा- Republic TV पैसे देकर खरीदती थी TRP!

टीआरपी में हेरफेर: मुंबई पुलिस का बड़ा दावा- Republic TV पैसे देकर खरीदती थी TRP!

0
346

मुंबई पुलिस (Mumbai Police) ने आज टीवी की टीआरपी में हेरफेर को लेकर बड़ा खुलासा किया है. मुंबई पुलिस के मुताबिक टीवी रेटिंग के ‘हेरफेर’ को लेकर रिपब्लिक टीवी (Republic TV) सहित तीन चैनलों की जांच की जा रही है. मुंबई के पुलिस कमिश्‍नर परमवीर सिंह ने यह जानकारी दी.

मुंबई के पुलिस कमिश्वर के मुताबिक, इस मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है. इसमें से एक रेटिंग को आंकने के लिए ‘पीपल मीटर’ लगाने वाली एक एजेंसी का पूर्व कर्मचारी भी है. उन्‍होंने कहा कि रिपब्लिक टीवी  (Republic TV) के अधिकारियों, जो न्‍यूज चैनल्‍स में सर्वोच्‍च टेलीविजन रेटिंग प्‍वाइंट्स (TRP) का दावा कर रहे है, को आज या कल समन किया जाएगा.

दो चैनल के मालिक गिरफ्तार

परमबीर सिंह ने कहा कि यह अपराध है, चिटिंग है. हम इसे रोकने के लिए जांच कर रहे हैं. फॉरेंसिक एक्सपर्ट की मदद ली जा रही है. जो आरोपी पकड़े गए हैं, उसी के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी.

यह भी पढ़ें: राफेल की रफ्तार से तेजस की ताकत तक, भारतीय बेड़े में एक से बढ़कर एक लड़ाकू विमान

उन्होंने कहा कि दो छोटे चैनल फख्त मराठी और बॉक्स सिनेमा भी शामिल है. इनके मालिकों को हिरासत में लिया गया है. BARC के लिए काम करने वाली हंसा कंपनी की शिकायत पर केस दर्ज किया गया है. इनके खिलाफ ब्रीच ऑफ ट्रस्ट और धोखाधड़ी का केस दर्ज किया गया है.

Republic TV के संलिप्त होने की संभावना

पुलिस कमिश्नर ने कहा कि रिपब्लिक टीवी  (Republic TV) में काम करने वाले लोग, प्रमोटर और डायरेक्टर के इसमें शामिल होने के चांस हैं. आगे की जांच चल रही है. जिन लोगों ने विज्ञापन दिया, उनसे भी पूछताछ की जाएगी. क्या उनपर दबाव तो नहीं था? रिपब्लिक टीवी  (Republic TV) के मालिक अर्णब गोस्वामी से पूछताछ की जा सकती है.

मालूम हो कि फिलहाल टीवी  न्यूज रेटिंग में रिपब्लिक भारत (Republic TV) नंबर एक पर है जिसने लंबे समय से शीर्ष पर चल रहे आज तक को पछाड़ने का दावा किया है. हालांकि टीआरपी को लेकर अब हेरफेर की खबरें सामने आने के बाद न्यूज चैनलों पर जांच की तलवार लटक रही है.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें