Gujarat Exclusive > हमारी जरूरतें > रिजर्व बैंक ने ब्याज दरों में 0.75 फीसदी की कटौती का ऐलान किया, रिवर्स रेपो रेट में भी कटौती

रिजर्व बैंक ने ब्याज दरों में 0.75 फीसदी की कटौती का ऐलान किया, रिवर्स रेपो रेट में भी कटौती

0
945

देश में फैले कोरोना माहामारी के बीच सरकार लगातार जरूरतमंदों को राहत देने की कवायत में जुटी हुई है. इसी बीच रिजर्व बैंक ने ब्याज दरों में 0.75 फीसदी की कटौती का ऐलान किया है. रिजर्व बैंक ब्याज दरों को 5.15 फीसदी से घटाकर 4.40 फीसदी कर दिया है. आरबीआई ने रिवर्स रेपो रेट  में भी 90 बेसिस प्वाइंट की कटौती करते हुए 4.90 फीसदी से घटाकर 4 फीसदी कर दिया है.

मालूम हो कि रेपो रेट वह दर होती है जिस दर पर रिजर्व बैंक (RBI) दूसरे व्यवसायिक बैंक को कर्ज देता है. व्यवसायिक बैंक रिजर्व बैंक से कर्ज लेकर अपने ग्राहकों को लोन ऑफर करते हैं. शुक्रवार को आरबीआई ने लिक्विडिटी एडजेस्टमेंट फैसिलिटी (LAF) में भी 0.9 फीसदी की कटौती की घोषणा की. अब LAF घटकर चार फीसदी हो गया है. सभी बैंकों के सीआरआर (CRR) में भी एक फीसदी तक की कटौती का निर्णय लिया गया है. CRR में कटौती 1 साल के लिए लागू की गई है. CRR में कटौती से बैंकों को 1.37 लाख करोड़ रुपये मिलेंगे.

रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा है कि मौजूदा समय जैसी अस्थिरता कभी नहीं देखी गई है. कोरोना वायरस की वजह से आउटलुक अनिश्चित और निगेटिव है. उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस की वजह से मांग में काफी कमी आई है. घरेलू अर्थव्यवस्था को सुरक्षा देना समय की मांग है. कोरोना वायरस की वजह से मौजूदा परिस्थितियों को देखते हुए मौद्रिक नीति की बैठक (MPC) ने पहले बैठक की है. उन्होंने कहा कि वित्तीय स्थिरता के लिए सेंट्रल बैंक ने यह कदम उठाए हैं. उन्होंने कहा कि सभी टर्म लोन के लिए 3 महीने का Moratorium लागू किया गया है. नेट फंडिंग नियम को 6 महीने के लिए टाल दिया गया है. उन्होंने कहा कि क्रेडिट फ्लो बनाए रखने के लिए RBI ने कई महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं. लिक्विडिटी के लिए 1 लाख करोड़ रुपये तक के LTRO करने का फैसला लिया गया है.

मालूम हो कि गुरुवार को सरकार ने गरीबों के लिए 1 लाख 70 हजार करोड़ रुपये के राहत पैकेज का ऐलान किया है. वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण ने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत इस राहत पैकेज की घोषणा की है.