Gujarat Exclusive > राजनीति > कृषि कानून पर अडिग मोदी सरकार, BJP की एक और सहयोगी दल ने छोड़ा साथ

कृषि कानून पर अडिग मोदी सरकार, BJP की एक और सहयोगी दल ने छोड़ा साथ

0
301

मोदी सरकार द्वारा कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का विरोध प्रदर्शन जारी है. किसानों के विरोध प्रदर्शन का आज 32वां दिन है. फिलहाल मसले का कोई समाधान निकलता नहीं दिख रहा है.

सरकार लगातार कोशिश कर रही है कि कानून में किसानों के साथ बीतचीत कर कुछ संशोधन किया जाए लेकिन किसान रद्द करने की मांग पर अड़े हुए हैं. RLP also left NDA

मिल रही जानकारी के अनुसार 29 दिसंबर को किसान और सरकार के बीच एक बार फिर से बातचीत होनी है जिसमें कुछ हल निकलने की उम्मीद है. RLP also left NDA

RLP ने भी छोड़ा एनडीए का साथ RLP also left NDA

लेकिन जहां एक तरफ मोदी सरकार कृषि कानून को लेकर अडिग है वहीं दूसरी तरफ किसान, विपक्ष और अपने ही सहयोगी दल के विरोध का सामना करना पड़ रहा है.

इस बीच जानकारी सामने आ रही है कि एक और एनडीए की घटक दल राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी ने भी कृषि कानून पर अलग होने का फैसला किया है. RLP also left NDA

पार्टी के संयोजक और राजस्थान के नागौर से सांसद हनुमान बेनीवाल ने तीन कृषि कानूनों के विरोध में चल रहे किसान आंदोलन के समर्थन में व लोकहित के मुद्दों को लेकर एनडीए से अलग होने का फैसला कर लिया.

हम ऐसे लोगों का साथ बिल्कुल नहीं देंगे जो किसानों के खिलाफ हैं RLP also left NDA

राजस्थान में कृषि कानून का विरोध करने वाले किसानों को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के संयोजक हनुमान बेनीवाल ने कहा कि हम हरगिज किसी ऐसे का साथ नहीं देंगे जो किसानों के खिलाफ है.

गौरतलब है कि उन्होंने इससे पहले कृषि कानून पर मोदी सरकार को खत लिखकर साफ किया था कि विरोध करने वाले किसानों की मांग पूरी की जाए अगर किसानों का आंदोलन जारी रहेगा तो वह पार्टी का साथ छोड़ देंगे.

इससे पहले कृषि कानून लाने वाली मोदी सरकार को एक बड़ा झटका लगा था. केंद्रीय मंत्री और शिरोमणि अकाली दल की सांसद हरसिमरत कौर बादल ने मोदी कैबिनेट से इस्तीफा दे दिया था. RLP also left NDA

हरसिमरत कौर बादल केंद्रीय खाद्य एवं प्रसंस्करण उद्योग मंत्री थीं. इस कानून को जिस दिन सदन में चर्चा करने के लिए रखा गया था उसी दिन से बीजेपी की सहयोगी शिरोमणि अकाली दल इसका विरोध कर रही थी.

शाम होते ही हरसिमरत कौर ने ट्विटर पर लिखा, ”मैंने किसान विरोधी अध्यादेशों और कानून के विरोध में केंद्रीय मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया है. किसानों के साथ उनकी बेटी और बहन के रूप में खड़े होने पर गर्व है.”

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

देश में कोरोना के नए मामलों में भारी गिरावट, बीते 24 घंटों में 18732 नए मामले दर्ज