Gujarat Exclusive > यूथ > जन्मदिन विशेष : आज भी क्रिकेट के भगवान हैं सचिन, जानिए मास्टर ब्लास्टर बनने की दास्तां

जन्मदिन विशेष : आज भी क्रिकेट के भगवान हैं सचिन, जानिए मास्टर ब्लास्टर बनने की दास्तां

0
617
  • रिकॉर्ड 100 शतक और 164 अर्धशतक
  • सबसे ज्यादा 200 टेस्ट
  • सर्वाधिक 463 वनडे मैच
  • टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा 51 शतक
  • वनडे क्रिकेट में सबसे ज्यादा 49 शतक 
  • अतंर्राष्ट्रीय क्रिकेट में सर्वाधिक 34,357 रन 
  • टेस्ट में 15,921 और वनडे में 18,426 रन
  • छह विश्व कप खेलने का कमाल
  • अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 24 साल

किसी ने कहा था कि क्रिकेट अगर धर्म है तो सचिन तेंदुलकर उसके भगवान हैं. यकीनन सचिन क्रिकेट के भगवान हैं. क्रिकेट की दुनिया में 24 वर्षों (1989-2013) तक छाए रहने वाले सचिन तेंदुलकर आज 47 साल के हो गए. महज 16 साल 205 दिन की उम्र में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में कदम रखने वाले इस ‘छोटे सचिन’ ने 40 के हो जाने पर ही अपने बल्ले को आराम दिया. इस सफर के दौरान सचिन ने इतने कीर्तिमान रच डाले कि उन्हें ‘भगवान’ का दर्जा दे दिया गया.

सचिन तेंदुलकर का जन्म 24 अप्रैल 1973 को दिन में 1 बजे मुंबई के शिवाजी पार्क राणाडे रोड स्थित निर्मल नर्सिंग होम में हुआ था. उस वक्त उनका वजन 2.85 किग्रा था. और आगे चलकर यही शिशु क्रिकेट का ‘युगपुरुष’ बन गया. देश में फैली कोरोना महामारी के कारण सचिन तेंदुलकर इस साल अपना जन्मदिन नहीं मना रहे हैं. सचिन के जीवन के इस खास मौके पर आइए एक नजर डालते हैं उन रिकॉर्ड पर जो आज भी उनकी महानता की दास्तां बता रहे हैं…

200 टेस्ट में किया भारत का प्रतिनिधित्व

सचिन ने अपने क्रिकेट करियर की शुरुआत 1989 में की थी. 2013 में उन्होंने क्रिकेट को अलविदा कहा. 24 साल के करिए में वो 200 इंटरनेशनल टेस्ट मैच खेल चुके हैं. उनके पीछे रिकी पॉन्टिंग और स्टीव वॉ हैं. दोनों ने 168 टेस्ट खेले हैं.

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में शतकों का शतक

200 टेस्ट मैच, 463 वनडे और इंटरनेशनल क्रिकेट में 100 शतक लगाने वाले सचिन तेंदुलकर एकलौते खिलाड़ी हैं. सचिन 200 टेस्ट खेलते हुए 51 टेस्ट शतक जड़ चुके हैं. इस लिस्ट में शीर्ष 10 खिलाड़ियों में कोई ऐसा खिलाड़ी नहीं जो खेल रहा हो, सभी खिलाड़ी संन्यास ले चुके हैं. विराट कोहली ने 27 और स्टीव स्मिथ 26 शतक जड़ चुके हैं. सचिन दुनिया के सबसे ज्यादा शतक लगाने वाले बल्लेबाज हैं. उन्होंने टेस्ट में 51 और वनडे में 49 शतक लगाया.

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 34 हजार से ज्यादा रन

सचिन तेंदुलकर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 34 हजार रन बना चुके हैं. जिसको तोड़ना काफी मुश्किल है. कोई खिलाड़ी उनके आस-पास नहीं हैं. विराट कोहली अब तक 21,901 रन बना चुके हैं. अगर उनको सचिन का रिकॉर्ड तोड़ना है तो उनको लगातार क्रिकेट खेलना होगा.

गेंद से भी दिखाई है काबिलियत

वह पिच के हिसाब से ऑफ और लेग स्पिन दोनों डालने में सक्षम थे. सचिन ने अपने लंबे करियर में 200 अंतरराष्ट्रीय विकेट लिए, जिनमें वन-डे में 155 और टेस्ट मैचों में 44 विकेट शामिल हैं. वह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में विकेट लेने वाले सबसे कम उम्र के भारतीय गेंदबाज बने थे. तेंदुलकर सिर्फ 17 साल और 224 दिन के थे जब उन्होंने अपना पहला अंतरराष्ट्रीय विकेट लिया था.

अंजलि से पहली मुलाकात से शादी तक की दिलचस्प कहानी

घुंघराले बाल वाले सचिन ने पत्नी अंजलि को पहली बार अगस्त 1990 में मुंबई एयरपोर्ट पर देखा था. तब सचिन करियर के अपने पहले इंग्लैंड दौरे से लौटे थे. वह सुर्खियों में थे, क्योंकि उन्होंने महज 17 साल 107 दिन की उम्र में टेस्ट क्रिकेट में शतक (नाबाद 119 रन, मैनचेस्टर टेस्ट) जमाने का कारनामा किया था. अंजलि एयरपोर्ट पर अपनी फ्रेंड के साथ मां को रिसीव करने पहुंची थीं. तभी उनकी फ्रेंड डॉ. अपर्णा ने सचिन को पहचान लिया. और उन्होंने सचिन की ओर इशारा करते हुए अंजलि से कहा था कि ये वही है, जिसने इंग्लैंड में सेंचुरी जमाई है. अंजलि यह सुनते ही ऑटोग्राफ लेने के लिए सचिन के पीछे दौड़ी थीं. किसी लड़की को अपने पीछे भागता देख सचिन भी शरमा गए थे. मजे की बात है कि सचिन से बात करने की कोशिश में अंजलि अपनी मां को रिसीव करना ही भूल गई थीं.

अंजलि गुजराती उद्योगपति आनंद मेहता और ब्रिटिश सामाजिक कार्यकर्ता एनाबेल मेहता की बेटी हैं. फोन पर बातचीत के साथ ही सचिन और अंजलि की बीच दोस्ती की बुनियाद पड़ चुकी थी. अंजलि ने एक इंटरव्यू में बताया था कि सचिन से मुलाकात करने के लिए वह खुद को पत्रकार बता उनके घर पहुंच गई थीं. सचिन अंजलि से मिलने ग्रांट मेडिकल कॉलेज- जेजे हॉस्पिटल जाने लगे, जहां अंजलि डॉक्टर बनने के लिए ट्रेनिंग पर थीं. अंजलि के लोनावाला स्थित पैतृक बंग्लो पर भी दोनों मिला करते थे.

कोरोना की दवा बनाने की एक उम्मीद टूटी, ट्रायल में फेल हुआ रेमडेसिवयर