Gujarat Exclusive > राजनीति > राजीव गांधी फाउंडेशन को चोकसी, नाईक, कपूर और जिग्नेश से मिला पैसा: संबित पात्रा

राजीव गांधी फाउंडेशन को चोकसी, नाईक, कपूर और जिग्नेश से मिला पैसा: संबित पात्रा

0
476

भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने एकबार फिर राजीव गांधी फाउंडेशन (Rajiv Gandhi Foundation) को लेकर सवाल खड़े किए हैं. इस बार भाजपा ने फाउंडेशन की फंडिंग को लेकर बड़ा खुलासा किया है. भाजपा ने दावा किया है कि राजीव गांधी फाउंडेशन को जाकिर नाईक, मेहुल चोकसी की कंपनियों से डोनेशन मिलता रहा है. फाउंडेशन को डोनेशन मिलने को लेकर भाजपा प्रवक्ता संबंत पात्रा (Sambit Patra) ने राणा कपूर और जिग्‍नेश शाह का भी नाम लिया.

संबित पात्रा (Sambit Patra) ने कहा, राजीव गांधी फाउंडेशन को डोनेशन मिलना कोई संयोग नहीं था, ये सोची-समझी साजिश थी.

यह भी पढ़ें: लोगों की पसंद नहीं आई खिलौने पर पीएम मोदी के ‘मन की बात’

संबित पात्रा (Sambit Patra) ने प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में कहा कि राजीव गांधी फाउंडेशन को घोटाले के आरोपी मेहुल चोकसी की कंपनियों से डोनेशन मिलता रहा. चोकसी पंजाब नैशनल बैंक फ्रॉड केस में मुख्‍य आरोपी है. उन्‍होंने चोकसी के अलावा RGF को जाकिर नाईक, यस बैंक के राणा कपूर और जिग्‍नेश शाह का भी नाम लिया. यह सभी किसी न किसी घोटाले के मामले में आरोपी हैं.

संबित पात्रा ने आरोप लगाए,

‘मेहुल चोकसी पंजाब नैशनल बैंक फ्रॉड केस में मुख्‍य आरोपी है. राजीव गांधी फाउंडेशन को कई लाख रुपये मेहुल चौकसी से मिले हैं. मेहुल चौकसी के नाम पर गीतांजलि ग्रुप नाम से एक कंपनी है. ये गीतांजलि इंफ्राटेक प्राइवेट लिमिटेड के अंतर्गत एक पेपर मेन्युफेक्चरिंग कंपनी है, जिसका नाम मेसर्स नवीराज एस्टेट्स प्राइवेट लिमिटेड है. नवीराज एस्टेट्स ने 29 अगस्त 2014 को राजीव गांधी फाउंडेशन को चेक नंबर- 676400 से 10 लाख रुपये डोनेट किए थे. इस कंपनी में 99.99 फीसदी हिस्सेदारी रोहन चौकसी की है. रोहन, मेहुल चौकसी का बेटा है. मेहुल चौकसी भी इस कंपनी में डायरेक्टर है.’

संबित पात्रा (Sambit Patra) ने आगे कहा, 2011-12 और 2013-14 में इस पेपर मेन्युफेक्चरिंग कंपनी की कोई बिजनेस एक्टिविटी नहीं हुई है.
उसके बावजूद गीतांजलि इंफ्राटेक से नवीराज एस्टेट्स के पास 47.78 करोड़ और 24.45 लाख रुपये जाता है. इसके बाद ये पैसा राजीव गांधी फाउंडेशन को जाता है.

उन्होंने दावा किया,

राजीव गांधी फाउंडेशन को यस बैंक से 9.45 लाख रुपये मिले. यह राणा कपूर का पैसा नहीं था लेकिन पैसा यस बैंक से राजीव गांधी फाउंडेशन को डायवर्ट किया गया.

बीजेपी नेता संबित पात्रा (Sambit Patra) ने तीसरा नाम लिया जिग्‍नेश शाह का. पात्रा ने कहा कि जिग्‍नेश शाह NSEL घोटाले के लिए कुख्यात है.
उन्होंने कहा,

NSEL के खिलाफ पीएमएलए का मामला चल रहा है. FTIL ने RGF को 27 अक्‍टूबर 2011 को 50 लाख रुपये डोनेशन दिया. जिग्‍नेश शाह और FTIL ने 5,600 करोड़ रुपये के अपराध किया, उसका एक बड़ा हिस्‍सा RGF को दिया गया.’

पात्रा ने आगे कहा,

जाकिर नाइक का इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन ने 8 जुलाई 2011 को 50 लाख रुपये RGF को डोनेट किए. जिस अकाउंट नंबर से डोनेशन हुआ उसे PMLA के तहत सीज किया गया है. जब पकड़े गए तो फाउंडेशन ने पैसा उसी बैंक के दूसरे अकाउंट में भेज दिया.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें